फ़रवरी 24, 2021

(पूरी हकीकत)

RSS नेता के घर भाजपाइयों द्वारा तोड़फोड़ का मामला पहुंचा केंद्रीय गलियारे तक…राज्यपाल से शिकायत

न्यूज़ सर्च@दुर्ग :- आरएसएस नेता डाॅ.दीप चटर्जी के घर में भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा की गई तोड़फोड़ का मामला पूरी तरह से गर्मा गया है। पुलिस द्वारा मामले में कोई FIR नहीं दर्ज करने पर आरएसएस और भाजपा का एक बड़ा धड़ डाॅ.दीप चटर्जी के साथ विरोध प्रदर्शन में शामिल हो गया है। घटना के 24 घंटे बीत जाने के बाद भी एफआईआर दर्ज नहीं होने पर चटर्जी गुट सोमवार को कलेक्टर पहुंचा और जमकर नारेबाजी की। विरोध प्रदर्शन में सैकड़ों की संख्या में भाजपा कार्यकर्ता रहे। लगभग एक दो घंटे तक नारेबाजी कर प्रदर्शन के बाद कार्यकर्ताओं ने राज्यपाल के नाम एक ज्ञापन कलेक्टर को सौंपा । इस दौरान भाजपा कार्यकर्ताओं ने चेतावनी दी है कि यदि 24 घंटे के भीतर मामले में एफआईआर दर्ज नहीं की जाती तो उग्र प्रदर्शन किया जाएगा।

सूत्रों की माने तो डॉ. चटर्जी ग्रुप ने मामले को लेकर परिवाद भी दर्ज करा रहा है। कहा जा रहा है कि न्यायालय यदि मामले आदेश देता है तो उसके बाद पुलिस को मामला दर्ज कराना ही पड़ेगा। इतना ही नहीं इस मामले में संघ की केंद्रीय इकाई ने सख्त संज्ञान लिया है। कहा जा रहा है कि संघ की नाराजगी को देखते हुए बीजेपी आलाकमान ने राज्यसभा सांसद सरोज पांडेय को दिल्ली तलब किया है।

गौरतलब है कि भाजपा नेता व आरएसएस के लीडर डॉ. दीप चटर्जी ने शनिवार को फेसबुक पर लिखा कि “देखो अब तो समाजवादी बहू ने भी राम जी पर अपनी “निधि समर्पण” कर दी। अब तो हिन्दू इसे “चंदा” बोलना बंद करें। वैसे हमारे यहां भिलाई में एक ‘शाही दशहरा होता है। उस पैसे को आप चंदा कह सकते हैं। उस चंदे की चोरी भी होती है। चंदा लेने/देने वाले अपनी निधि समर्पित नहीं करते ! वह भय या प्रलोभन से ‘चंदा ही देते हैं।
इस पोस्ट के बाद रविवार सुबह चारूलता और उनके दोनों बेटे भारी संख्या में अपने समर्थकों के साथ उसके घर पहुंचे और उनके साथ गाली-गलौज करने लगे। जब डॉ. चटर्जी की बेटी ने इसका विरोध किया तो विद्रोहियों ने उसके साथ हुज्जत की और उसको थप्पड़ भी जड़ दिया। इसके बाद उन्होंने डॉ चटर्जी की मां और पत्नी के साथ दुव्र्यवहार किया।

You cannot copy content of this page

hi_INHindi
Open chat
विज्ञापन के लिए इस नंबर पर संपर्क करें