October 19, 2021

(पूरी हकीकत)

2 साल के बच्चे से लेकर 90 साल के वृद्ध ने कराया टेस्ट, गांव कोरोना मुक्त

न्यूज़ सर्च, बिलासपुर, जनवरी 4 :-
आजकल कोरोना वायरस को लेकर लोग लापरवाही बरतने लगे हैं। सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क लगाना तक बंद कर दिया है। लक्षण के बावजूद कोरोना टेस्ट करने से बच रहे हैं। ऐसी लापरवाहियों से ही जिले में कोरोना संक्रमण पर पूरी तरह नियंत्रण नहीं हो सका है, लेकिन इन सबके बीच जिले में एक ऐसा भी गांव है जो जागरूकता की मिसाल बन गया है। ये तखतपुर ब्लाक का पेंड्री गांव है, जहां 2 दिन में के भीतर 2 साल के बच्चे से लेकर 90 साल के बुजुर्ग तक 437 लोगों ने कोरोना टेस्ट करवाया, इसके साथ ही यह गांव शत-प्रतिशत कोरोना फ्री हो गया। तखतपुर ब्लाक के ग्राम पेंड्री के ग्रामीणों का एक फैसला उनके जीवन में काफी बदलाव लाने वाला साबित हुआ। ठंड का मौसम आने के कारण पिछले कुछ दिनों से गांव के कई लोगों को सर्दी खांसी और बुखार था। सभी एक दूसरे को कोरोना पॉजिटिव की नजर से देख रहे थे। उन्हें अपने परिवार की चिंता भी सताने लगी थी। पेंड्री के सरपंच रूपचंद्र कौशिक और पंचों ने बैठक करके सर्दी खासी बुखार शुगर और बीपी पीड़ित सभी लोगों का कोरोना टेस्ट कराने का निर्णय लिया। स्वास्थ्य विभाग के दफ्तर पहुंचकर सरपंच ने गांव में शिविर लगाने की बात रखी। अधिकारियों के सवाल पर सरपंच ने गांव के सभी लोगों के सैंपल लेने की बात कही। यह सुनकर अधिकारियों को भी आश्चर्य हुआ। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम 27 दिसंबर को दल बल के साथ गांव पहुंची। गांव के लोग भी काफी जागरूक नजर आए। कुछ ही देर में कोरोना टेस्ट कराने वालों की लाइन लग गई। 2 साल के बच्चे से लेकर 90 साल के वृद्ध तक अपना टेस्ट कराने पहुंच गए। ग्रामीणों की अत्यधिक भीड़ के कारण विभाग को दूसरे दिन 28 दिसंबर को भी गांव में शिविर लगाना पड़ा। 2 दिनों के दौरान 437 ग्रामीणों ने अपना कराया। सभी की रिपोर्ट नेगेटिव आने पर गांव में खुशियां फैल गई।

You cannot copy content of this page

en_USEnglish
Open chat
विज्ञापन के लिए इस नंबर पर संपर्क करें