October 19, 2021

(पूरी हकीकत)

सर्दी में कोरोना का संक्रमण और अधिक खतरनाक, बच्चों व बुजुर्गों का रखें विशेष ख्याल

सर्दी व खांसी को सामान्य फ्लू न समझ कराएं कोविड टेस्ट,डॉक्टर से तुरंत परामर्श लें

बिलासपुर 28 दिसंबर 2020: दिसंबर और जनवरी ठंड के मौसम में सबसे अधिक सर्द महीने होते हैं। ऐसे में इन महीनों में मौसम परिवर्तन से लोगों को सर्दी और खांसी की समस्या भी अधिक होती है। कोरोना काल में यदि इस तरह की समस्या आपको होती है तो इसे सामान्य फ्लू न समझें, बल्कि नजदीकी शासकीय अस्पताल जाकर अपना कोविड टेस्ट कराएं और डॉक्टर की सलाह जरूर लें। यदि सर्दी और खांसी की समस्या बच्चों और बुजुर्गों को होती है तो उनका विशेष ख्याल रखें क्योंकि यह उनके लिए अधिक खतरनाक साबित हो सकता है। चिकित्सकों के अनुसार बच्चों व बुजुर्गों को न सिर्फ ठंड से बल्कि कोरोना संक्रमण काभी अधिक खतरा है।
बिलासपुर के जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. मनोज सैम्युअल का कहना है “सर्दी-जुकाम, खांसी व बुखार ठंड लगने से नहीं बल्कि वायरस से फैलते हैं। शरीर जब ठंडा होता है तो नाक व गले की रक्त वाहनियां संकरी हो जाती हैं और इंफेक्शन से लड़ने वाली सफेद रक्त कोशिकाओं का प्रवाह कम हो जाता है। इससे प्रतिरोधक क्षमता में कमी आती है और ऐसे में शरीर आसानी से कोरोना वायरस से भी संक्रमित हो सकता है। इसके लिए चिकित्सा विशेषज्ञ लगातार सावधानियां बरतने की सलाह दे रहे हैं।”

सतर्कता एवं एहतियात बरतना जरूरी : सीएमएचओ डॉ. प्रमोद महाजन

जिला मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रमोद महाजन कहते हैं “सर्दियों का मौसम वायरस के संक्रमण के लिए काफी अनुकूल होता है। ठंड में वायरस अधिक ताकतवर हो जाता है। कोरोना वायरस का बदलता स्वरूप भी इसी का एक प्रमाण है। इसलिए लापरवाही छोड़कर सतर्कता एवं एहतियात बरतना जरूरी है। मास्क लगाएं और दो गज की दूरी का पालन करें। उन्होंने कहा कि एहतियात, मास्क और दो गज की दूरी कोरोना से जंग के लिए है जरूरी…।”
अपनी सुरक्षा अपने हाथ : डॉ. सीबी मिश्रा
जिला चिकित्सालय के आरएमएओ डॉ. सीबी मिश्रा कहते हैं “बुजुर्गों को ठंड के मौसम में बादाम/मूंगफली व फलों का सेवन करना चाहिए। ठंडी चीजों से परहेज करना चाहिए, रोजाना दिन में तीन चार बार गर्म पानी का सेवन जरूर करें। खाना खाने के बाद गर्म पानी जरूर पीना चाहिए और तुरंत बिस्तर पर जाकर सोए नहीं। खाना खाने के करीब एक घंटे बाद सो सकते हैं। इस समय ठंड बढ़ने के साथ साथ कोरोना संक्रमण भी बढ़ रहा है। बच्चों व बुजुर्गों को घर से बाहर निकलने से पहले गर्म कपड़ों से अपने शरीर को ढक कर रखना चाहिए। इसके अलावा घर से बाहर निकलते समय मास्क का प्रयोग जरूर करें और बाजारों में भी शारीरिक दूरी का अवश्य ध्यान रखें। अपनी सुरक्षा अपने हाथ है।

सर्दी में होने वाले फ्लू के लक्षण

  • जोर-जोर से छींक आना
  • तेज नाक बहना
  • गले में खराश या खांसी होना
  • शरीर में अकड़न या बुखार होना
  • उल्टी व दस्त लगना

ठंड से बचाव के उपाय

  • सुबह-शाम गर्म कपड़े पहनकर घर से निकलें।
  • ठंड पैरों से शरीर में प्रवेश करती है, इसलिए पैरों में मोजे व जूते पहनें।
  • वाहन चलाते समय हाथों में दस्ताने पहनकर रखें।
  • भोजन के साथ व अन्य समय में पीने के लिए थोड़ा गर्म पानी का प्रयोग करें।
  • छोटे बच्चों को ठंडी हवा न लगने दें।
  • सर्दियों में धूप में अवश्य बैठें।

You cannot copy content of this page

en_USEnglish
Open chat
विज्ञापन के लिए इस नंबर पर संपर्क करें