March 7, 2021

(पूरी हकीकत)

बाबा रामदेव की कोरोनिल को लेकर छत्तीसगढ़ में भी बयानबाजी

आयुर्वेद में बिना साइडइफेक्ट कोरोना के इलाज का दावा फिर भी क्यों हो रहा विरोध

न्यूज़ सर्च@रायपुर :-  योगगुरू रामदेव (Baba Ramdev) ने कोरोना वायरस (Patanjali Corona Medicine) को लेकर छत्तीसगढ़ में भी बयानबाजी शुरू हो गई है। छत्तीसगढ़ सरकार (Chhattisgarh Government) के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने जहां दवा की प्रमाणिकता पर सवाल उठाया है तो वहीं आयुर्वेद एक्सपर्ट का कहना है की कई राज्यों में आयुर्वेद से कोरोना का इलाज किया जा रहा है। ऐसे में सवाल यह खड़ा हो रहा है की आखिर एलोपैथिक मेडिसिन को कम कर आयुर्वेद को अपनाने का राग अलापने वाले जिम्मेदार इसे क्यों नहीं अपना रहे हैं।

स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव (Health Minister TS Singhdeo) का कहना है कि आईसीएमआर (ICMR) या समकक्ष संस्था से बिना मंजूरी लिए शासन ने इस दवा को लांच करने की कैसे अनुमति दे दी। रजिस्ट्रेशन के बाद दवा या टॉनिक के रूप में इसे इस्तेमाल किया जा सकता है। इलाज के रूप में नहीं किया जा सकता। वहीं हॉस्पिटल बोर्ड के अध्यक्ष डॉ राकेश गुप्ता का कहना है कि सिर्फ 280 लोगों पर ट्रायल कर कोई कैसे दावा किया जा सकता है कि दवा कारगर है या नहीं। सवाल यह भी खड़ा किया जा रहा है की आखिर यह 280 लोग कहां से लाए गए थे?

आयुर्वेद एक्सपर्ट ने माना

आयुर्वेदिक कॉलेज के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ संजय शुक्ला का कहना है कि कई राज्यों में आयुर्वेद से कोरोना का इलाज किया जा रहा है। मरीज ठीक भी हो रहे हैं। हालांकि आईसीएमआर या समकक्ष संस्था से मंजूरी लिए बिना दवा लॉन्च करना गलत है।

You cannot copy content of this page

en_USEnglish
Open chat
विज्ञापन के लिए इस नंबर पर संपर्क करें