February 28, 2021

(पूरी हकीकत)

धान खरीदी की अनियमितता और 2,200 क्विंटल धान की कमी पाए जाने पर बंद हुआ कचंदा धान उपार्जन केंद्र

अनियमितता के खिलाफ जैजैपुर थाने में दर्ज प्रकरण पर चालान पेश करने की हुई कार्रवाई

जांजगीर-चांपा। खरीफ विपणन वर्ष 2017-18 में धान का समर्थन मूल्य की धान खरीदी में अनियमितता और 2,200 क्विंटल धान की कमी पाए जाने के कारण सक्ती विकास खंड के कचंदा उपार्जन केंद्र को छत्तीसगढ़ शासन के खाद्य सचिव द्वारा धान खरीदी नहीं करने का निर्देश दिया गया। प्रभारी उप पंजीयक सहकारी संस्थाएं से प्राप्त जानकारी के अनुसार अनुविभागीय अधिकारी सक्ती के जांच प्रतिवेदन के आधार पर संचालक मंडल के विरुद्ध कार्यवाही करने हेतु प्रेषित किया गया। जांच प्रतिवेदन के आधार पर अध्यक्ष जागेश्वर चंद्रा एवं संचालक मंडल के विरुद्ध कार्रवाई करने हेतु पत्र लिखा गया, किंतु संचालक मंडल ने कोई कार्यवाही नहीं की। जिसके कारण अध्यक्ष एवं संचालक मण्डल के विरुद्ध वैधानिक कार्रवाई हेतु सूचना पत्र जारी किया गया। संचालक मंडल द्वारा प्रस्तुत जवाब विधि सम्मत नहीं पाए जाने के कारण संचालक मंडल को छत्तीसगढ़ सहकारी सोसायटी अधिनियम 1960 की धारा के तहत भंग कर संचालक कमेटी नियुक्त किया गया। वर्ष 2017-18 अवधि में धान खरीदी केन्द्र कचंदा के धान खरीदी प्रभारी ललित कुमार टंडन संस्था मे कम्प्यूटर आपरेटर के पद पर कार्यरत है, द्वारा धान खरीदी में अनियमितता करते हुए 2,200 क्विंटल धान की कमी की गई, जिसके कारण जैजैपुर पुलिस थाना में 3 फरवरी 2018 को पर्यवेक्षक रोहित कुमार राठौर और जिला केंद्रीय सहकारी बैंक जैजैपुर द्वारा ललित कुमार टण्डन धान खरीदी प्रभारी एवं आठ अन्य व्यक्तियों के विरुद्ध पुलिस प्राथमिकी दर्ज कराई गई। धान खरीदी केंद्र कचंदा में वर्ष 2017-18 में अध्यक्ष एवं संचालक मंडल की संलिप्तता के कारण धान खरीदी प्रभारी द्वारा अनिमियतता एवं स्कंध में कमी हुई, जिसके कारण छत्तीसगढ़ शासन के खाद्य सचिव द्वारा कचंदा में धान खरीदी नहीं करने के निर्देश दिए, एवं समिति कचंदा के आश्रित ग्राम को समिति ओडे़केरा एवं तुषार में संलग्न कर वर्ष 2019-20 तक धान खरीदी कराई गई। धान खरीदी वर्ष 2020-21 में समिति के आश्रित ग्राम हरदीडी, रीवाडीह और आमाकोनी को शामिल कर हरदीडीह नवीन समिति पंजीकृत की गई है, एवं धान खरीदी केंद्र हरदीडीह में धान की खरीदी की जा रही हैं। कचंदा समिति के शेष ग्राम कचंदा, बेलादुला एवं खरवानी को धान खरीदी केंद्र तुषार में संलग्न किया गया है। वर्ष 2018-19 एवं 2019-20 में धान बिक्री करने में किसानों को कोई भी असुविधा नहीं होना पाया गया।
   
  प्रभारी उप पंजीयक सहकारी संस्थाएं ने बताया कि वर्ष 2017-18 के धान खरीदी केंद्र कचंदा में अनियमितता करने वाले अध्यक्ष एवं संचालक मंडल सदस्य बिलासपुर के आदेश सेें वर्ष 2020-21 अवधि में पुनः कार्य पर उपस्थित हो गए हैं। इन्हीं लोगों के द्वारा ग्राम कचंदा में धान खरीदी प्रारंभ करवाने की मांग करते हुए धरना प्रदर्शन किया जा रहा है।

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मधुलिका सिंह ने बताया कि धान उपार्जन केन्द्र कचंदा की अनिमियतता के संबंध में जैजैपुर थाने मे दर्ज प्रकरण का चालान प्रस्तुत करने की कार्रवाई की गई है।

You cannot copy content of this page

en_USEnglish
Open chat
विज्ञापन के लिए इस नंबर पर संपर्क करें