August 4, 2021

(पूरी हकीकत)

निलंबित एडीजी जीपी सिंह के बंगले में पुलिस ने चलाया तलाशी अभियान, 5 कम्प्यूटर-लैपटॉप जब्त

न्यूज सर्च, रायपुर – राजद्रोह और धार्मिक वैमनस्यता फैलाने के आरोपों से घिरे एसीबी के पूर्व चीफ और निलंबित एडीजी जीपी सिंह के पुलिस लाइन स्थित सरकारी बंगले में गुरुवार को पुलिस सर्च वारंट लेकर घुसी। उनके बंगले के एक हिस्से में बने ऑफिस के कंप्यूटरों की जांच की गई। छानबीन के बाद पांच कम्प्यूटर, एक सीपीयू और एक लैपटॉप जब्त किए गए।

सर्चिंग के दौरान उनकी लाइब्रेरी की एक-एक किताबों के पन्ने चेक किए गए। एडीजी ने बंगले के एक हिस्से को लाइब्रेरी में तब्दील किया है। उसमें अन्य किताबों के अलावा लॉ की भी काफी किताबें हैं। सभी किताबों की जांच की गई। एक-एक पन्ने पलटकर देखे गए। इस दौरान पुलिस को कुछ दस्तावेज मिले। उन्हें जांच के लिए जब्त कर लिया गया है। एडीजी जीपी कामकाज से संबंधित छोटी छोटी बातें भी डायरी में लिखते हैं। इस वजह से पुलिस का फोकस डायरी या ऐसे रजिस्टर की तलाश थी, जिसमें उन्होंने कोई विवादास्पद बातें लिखीं हो। सर्चिंग के दौरान फिर एक डायरी मिलने की चर्चा है। अधिकृत तौर पर इसकी पुष्टि नहीं की जा रही है। रात 8 बजे के बाद तक सर्चिंग चल रही थी। सीएसपी मनोज ध्रुव के साथ चार थानेदारों की टीम अपरान्ह करीब 3 बजे एडीजी सिंह के सरकारी बंगले में घुसी।

हाईकोर्ट ने सरकार को डायरी पेश करने कहा

जीपी सिंह की याचिका पर गुरुवार को जस्टिस एनके व्यास की सिंगल बेंच में सुनवाई हुई, लेकिन इसमें कोर्ट से सिंह को कोई राहत नहीं मिली। कोर्ट ने राज्य सरकार से केस डायरी और लिखित में जवाब पेश करने के लिए कहा है। ईओडब्ल्यू और एसीबी ने जीपी सिंह के सरकारी बंगले समेत 15 अन्य ठिकानों पर छापेमारी की। इस दौरान उनके बंगले से आपत्तिजनक दस्तावेज बरामद किए गए थे। इसी के आधार पर रायपुर की कोतवाली पुलिस ने सिंह के खिलाफ राजद्रोह का केस दर्ज किया है।

You cannot copy content of this page

en_USEnglish
Open chat
विज्ञापन के लिए इस नंबर पर संपर्क करें