August 1, 2021

(पूरी हकीकत)

आरएसएस की राष्ट्रीय चिंतन बैठक: बंगाल की हार से सबक लेकर संघ बढ़ेगा आगे, हिंदुत्व के साथ मुस्लिमों को भी जोड़ने पर जोर

न्यूज सर्च, चित्रकूट (विवेक सिंह) :- सरसंघचालक मोहन भागवत के नेतृत्व में चित्रकूट में शांति बैठक आयोजित की जा रही है। तीसरे दिन आयोजित बैठक में कहा गया कि बंगाल सहित पूर्वोत्तर राज्यों में हिंदुत्व को धार देने की जरूरत है। बैठक में पश्चिम बंगाल के बारे में कहा गया कि वहां अपेक्षा के अनुरूप सफलता नहीं मिली।

हाल ही में हुए पश्चिम बंगाल के विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को अपेक्षा के अनुरूप सफलता न मिलने पर संघ ने मंथन करते हुए इससे सबक लेकर आगे की योजनाओं पर रुझान बढ़ा दिया है। संघ की राष्ट्रीय चिंतन बैठक में रविवार को तीसरे दिन यह मुद्दा भी प्रमुखता से शामिल रहा।

बैठक में कहा गया कि बंगाल सहित पूर्वोत्तर राज्यों में हिंदुत्व को धार देने की जरूरत है। बैठक में पश्चिम बंगाल के बारे में कहा गया कि अपेक्षा के अनुरूप सफलता नहीं मिली। अब वहां की सियासत को समझकर आगे कदम रखना होगा।

हिंदुत्व मुद्दे के साथ मुस्लिम वर्ग को भी अपने साथ जोड़ना होगा, ताकि सामंजस्य बन सके। इस दौरान बैठक में युवाओं को भी आरएसएस से जोड़ने पर जोर दिया गया। बैठक के पहले सत्र में संघ प्रमुख डॉ. मोहन भागवत ने प्रांत प्रचारकों के कामों की समीक्षा की।

कोरोना काल में किए गए कार्यों को भी परखा। कुछ प्रांत प्रचारकों ने कहा कि राज्य सरकारों के कामकाज से वहां के निवासियों में असंतोष देखा गया। बैठक में इस पर भी चर्चा हुई कि संघ की शाखाएं गांवों में संचालित हों। बैठक में सह सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले, राममाधव, भइया जी जोशी, सुरेश सोनी, कृष्ण गोपाल, मदन दास देवी सहित करीब 45 प्रांत प्रचारक उपस्थित रहे।

You cannot copy content of this page

en_USEnglish
Open chat
विज्ञापन के लिए इस नंबर पर संपर्क करें