August 2, 2021

(पूरी हकीकत)

भरष्टाचार को छिपाने जिले में हो रहा सूचना के अधिकार का उल्लंघन

समय पूरा होने के बाद भी सचिव नहीं दे रहा आर टी आई का जवाब

न्यूज़ सर्च@रैपुरा/चित्रकूट (विवेक सिंह) :- चित्रकूट जिले में भ्रष्टाचार चरम पर है। हालात यह हैं कि लोग भ्रष्टाचार को छिपाने सूचना के अधिकार तक का उल्लंघन कर रहे हैं। ग्राम पंचायत रैपुरा इसका जीता जागता उदाहरण है।

विकास खंड मानिकपुर में वर्ष 2015 से 2020 तक हुए विकास कार्यों की जानकारी लेने के लिए ग्राम पंचायत रैपुरा की पूर्व क्षेत्र पंचायत सदस्य उमा देवी ने ग्राम सचिव से आरटीआई के माध्यम से दिनांक 10 जून 2021 को जानकारी मांगी थी। एक माह का समय बीत जाने के बाद भी आरटीआई का जवाब ग्राम पंचायत अधिकारी कमलाकर सिंह ने नहीं दिया। इससे साफ है कि ग्रामपंचायत में बड़ा गड़बड़झाला है और इसी को छिपाने के लिए वह आरटीआई के कानून का उलंघन कर रहा है।

हद तो यह है कि प्रार्थिया बीते दिनों जिलाधिकारी कार्यालय में जाकर ग्राम पंचायत रैपुरा में हुए प्रधानमंत्री आवासों के विषय में अवगत कर चुकी है, लेकिन कोई भी इस मुद्दे की जांच कर सच्चाई को सामने नहीं लाना चाहता है।

ऐसे तमाम मामले ग्राम पंचायत रैपुरा में हुए है जिनकी जानकारी लेने हेतु आरटीआई लगाई थी परन्तु जिम्मेदार अधिकारी अभी तक शांत है और उनकी तरफ से कोई जवाब नहीं दिया जा रहा है।
आखिर अगर ग्राम पंचायत रैपुरा में कोई भ्रष्टाचार संबंधित कार्य नहीं हुआ है तो आर टी आई का जवाब देने से क्यों डर रहे हैं।

You cannot copy content of this page

en_USEnglish
Open chat
विज्ञापन के लिए इस नंबर पर संपर्क करें