July 26, 2021

(पूरी हकीकत)

छात्र नेता छात्रा की मांग भरकर करता रहा बलात्कार, जब शादी की बात तो घरवालों ने बोला 12 लाख लो और चलते बनो

न्यूज़ सर्च@जबलपुर :- जबलपुर में एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। यहां के छात्र नेता ने एक छात्रा की पहले तो मांग भरकर शादी करने और 7 जन्मों तक साथ रहने की कसमें खाई। उसके बाद छात्रा का शरीरिक शोषण करने लगा। जब छात्रा ने लड़के से शादी करने की बात कही तो छात्र नेता ने 12 लाख रुपए लेकर रिश्ता खत्म करने की बात कही। इससे आहत होकर छात्रा ने महिला थाना में छात्र नेता शुभांग गोटिया के खिलाफ बलात्कार का मामला दर्ज कराया है।

छात्रा का आरोप है कि छात्र नेता ने उसको शादी के लिए प्रपोज किया और मांग में सिंदूर भर कर शादी करने की बात कहकर उसका विश्वास जीत लिया। फिर 3 साल तक उसने उसके साथ संबंध बनाए और बाद में शादी करने से इनकार कर दिया। जब छात्रा के पिता ने आरोपी छात्र के पिता से बात की तो उन्होंने इसके लिए छात्रा को गलत बताते हुए कहा कि 10-12 लाख रुपए लेकर मामला सेटल कर लो। नहीं तो तुम्हारी बेटी बदनाम हो जाएगी।

शिकायत करने वाली 23 वर्षीय छात्रा ने बताया कि 3 साल पहले 2018 में उसकी मुलाकात राइट टाउन निवासी शुभांग गोटिया (25) से हुई थी। शुभांग तब अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद का महानगर मंत्री हुआ करता था। उसने शादी के लिए प्रपोज किया और नजदीकी बढ़ाने लगा। फिर एक दिन उसकी मांग में सिंदूर भरते हुए बोला- धार्मिक मान्यताओं के अनुसार आज से हम दोनों पति-पत्नी हैं।

छात्रा ने जबलपुर की महिला थाने में शिकायत दर्ज कराते हुए बताया कि जब वह पुणे में पढ़ाई कर रही थी, तो आरोपी भी वहां उससे मिलने जाता था। आरोपी पुणे, गोवा, कान्हा-किसली समेत कई जगह उसे घुमाने के बहाने ले जाकर संबंध बनाता था। जब भी छात्रा उससे शादी करने की बात करती, तो बोलता कि हम तो शादी कर ही चुके हैं, बस समाज के सामने होनी है, वो भी हो जाएगी।

छात्रा ने आरोपी शुभांग से शादी करने की जिद पकड़ी, तो वह जनवरी 2021 में साफ मुकर गया। शुभांग के इस तरह धाेखे का सदमा वह बर्दाश्त नहीं कर पाई। बड़ी मुश्किल से हिम्मत कर छात्रा ने अपने साथ हुई आपबीती घरवालों को बताया, तो घरवाले परेशान हो गए। पिता समेत अन्य परिजनों ने महीनों उससे बात नहीं की। पांच महीने तक ये परिवार इसी कश्मकश में रहा कि आरोपी के खिलाफ प्रकरण दर्ज कराया जाए या नहीं। आरोपी सहित उसके घरवालों से बात करने की कोशिश की गई, लेकिन उनका रवैया नकारात्मक निकला।

मामला दर्ज होने के बाद पीड़ित छात्रा के पिता ने स्थानीय पत्रकारों से बातचीत करते हुए उम्मीद लेकर शुभांग के पिता प्रदीप गोटिया के पास गया। बच्चों की गलती को लेकर बात की। कहा कि दोनों की शादी कर हम इस गलती को सुधार दें, लेकिन वे तो बेटी की इज्जत का ही सौदा करने लगे। बोले- 10-12 लाख रुपए लेकर मामला सेटल कर लो, नहीं तो तुम्हारी बेटी को बदनाम कर देंगे। तुम्हें जहां शिकायत करनी हो, कर लो।

You cannot copy content of this page

en_USEnglish
Open chat
विज्ञापन के लिए इस नंबर पर संपर्क करें