March 6, 2021

(पूरी हकीकत)

जांजगीर चांपा में सीएम के निर्देश की उड़ रही धज्जियां, धड़ल्ले से चल रहा अवैध रेत उत्खनन

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सभी रेतघाट बंद करने व रेत परिवहन पर लगाई है रोक

न्यूज सर्च@जांजगीर-चांपा. छत्तीसगढ़ के मुखिया यानि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को भले ही यह लग रहा हो कि पूरे प्रशासन की कमान उनके हाथ में, लेकिन जांजगीर-चांपा जिले में ऐसा नहीं है। यहां रेत माफियाओं का हौसला इस कदर बढ़ा है कि खनिज विभाग से मिलीभगत कर वह रोजाना सैकड़ों ट्रक रेत का अवैध उत्खनन कर रहे हैं। इतना ही नहीं खुलेआम नदी किनारे पोकलेन मशीन से रेत निकाली जा रही है और रेत माफिया को अवैध टेंट तक वहां लगा है। इससे साफ है कि जांजगीर जिला प्रशासन पर सीएम के निर्देश का कोई असर नहीं पड़ता है। वह कमीशन की आड़ में प्रदेश के मुखिया तक के आदेश ठेंगा दिखा सकते हैं। 

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने विगत दिनों हुई कैबिनेट की बैठक में छत्तीसगढ़ के सभी रेत खदान बंद करने व रेत परिवहन पर रोक लगाने के निर्देश जारी किए थे। उन्होंने स्पष्ट रूप से कहा था कि वह अपने राज्य में किसी भी माफिया को बर्दास्त करेंगे, चाहे वह रेत माफिया, भू माफिया हो या फिर कोई और। इसके बाद भले ही राज्य के अन्य जिलों में अवैध रेत उत्खनन बंद हो गया हो, लेकिन जांजगीर जिला प्रशासन में रेतमाफियाओं की ही हुकूमत चलती दिख रही है। इस जिले के हथनेवरा, बम्हनीडीह, पिपरदा, सोठी, पुछेली, अमोदी, गोविन्दा, करनौद सहित नदी किनारे लगे सभी गांव से धड़ल्ले से खुलाआम अवैध रेत का उत्खनन हो रहा है।

नहीं किसी का डर भय

यहां सक्रिय रेत माफियाओं को कीसी का डर भय नहीं है। वह लोग बिना किसी के डर के 500 रुपए ट्रैक्टर से लेकर 1200 रुपए तक मे नदी से रेत निकाल कर लोड कर रहे हैं। माफियाओ द्वारा नदी से रेत निकलवाने का रेट भी फिक्स है। एक ट्रैक्टर रेत निकालने के लिए ट्रैक्टर वालो से 150 रुपए से 250 रुपए तक लिया जाता है। इसमें आस पास के पंचायत सरपंचो द्वारा भी रेत माफियाओ का साथ दिया जा रहा है। वहीं दबंगई से इस काम को करने के लिए गुर्गे भी रखा गया है।

रात दिन निकाली जा रही रेत 

रेत माफियाओं का हौसला इस कदर बढ़ा हुआ है कि वह लोग रात दिन बराबर रेत का उत्खनन कर रहे हैं। खनिज विभाग के अधिकारियों को पूरी ईमानदारी के साथ कमीशन पहुंच रहा है, तो वह भी कार्यवाही करने में कोई रुचि नहीं दिखा रहे हैं। इसी का फायदा उठाकर रेत माफिया हसदेव नदी का सीना चीरते हुए अंधाधुंध रेत निकाल रहे हैं।

You cannot copy content of this page

en_USEnglish
Open chat
विज्ञापन के लिए इस नंबर पर संपर्क करें