June 22, 2021

(पूरी हकीकत)

जल्द आ सकती है 2-18 साल के बच्चों की वैक्सीन…

एम्स में शुरू हुआ ट्रायल… 8 सप्ताह में ट्रायल पूरा करके परिणाम देने का लक्ष्य, ट्रायल से पहले बच्चों की होगी स्क्रीनिंग

न्यूज सर्च@नई दुल्ली – देश में जल्द ही 2-18 साल तक के बच्चों के लिए भी कोरोना की वैक्सीन आ सकती है। इसके लिए दिल्ली के एम्स में सोमवार से बच्चों पर वैक्सीन का ट्रायल शुरू हो रहा है। इस ट्रायल में 2 से 18 साल के बच्चों को शामिल किया जाएगा। पहले चरण में कुल 17 बच्चों पर ट्रायल होगा। ट्रायल से पहले बच्चों की स्क्रीनिंग की जाएगी। ट्रायल सफल होने पर बच्चों में टीकाकरण की शुरुआत की जाएगी। 

एम्स प्रशासन के मुताबिक ट्रायल पूरा करने के लिए आठ सप्ताह का लक्ष्य रखा गया है। ट्रायल के लिए पहले बच्चों की स्क्रीनिंग होगी, उन्हें पूरी तरीके से स्वस्थ पाए जाने के बाद ही टीका लगाया जाएगा। ट्रायल के पहले चरण में 17 बच्चों को शामिल किया जाएगा। बच्चों को भारत बायोटेक और आईसीएमआर की कोवैक्सीन की खुराक दी जाएगी। इससे पहले पटना के एम्स में 3 जून को तीन बच्चों कोवैक्सीन की पहली डोज लगाई गई थी। विशेषज्ञों ने कोरोना की तीसरी लहर में बच्चों के लिए अधिक खतरनाक बताया है। ऐसे में बच्चों का टीका उन्हें संक्रमण से बचाने में काफी मददगार हो सकता है।

आपको बता दें कि भारत बायोटेक को दवा नियामक डीसीजीआई से 11 मई को बच्चों पर क्लीनिकल ट्रायल की मंजूरी मिली थी। इसके बाद बीते सप्ताह एम्स पटना ने 2 से 18 साल की उम्र के बच्चों पर कोवैक्सीन का ट्रायल शुरू किया था। डीसीजीआई ने बच्चों पर कोवैक्सीन के दूसरे और तीसरे चरण के ट्रायल के लिए मंजूरी दी है। कई अन्य संस्थानों के साथ एम्स-दिल्ली को भी ट्रायल साइट के लिए चुना गया है। अन्य संस्थानों में एम्स-पटना और नागपुर स्थित मेडिट्रिना इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस शामिल हैं।

You cannot copy content of this page

en_USEnglish
Open chat
विज्ञापन के लिए इस नंबर पर संपर्क करें