September 27, 2021

(पूरी हकीकत)

बिना मास्क, सेनेटाइजर और वैक्सीनेशन के लेक्चरर की लगाई कोविड ड्यूटी… संक्रमण से हुई मौत…

न्यूज सर्च@कोरबा :- कोरबा जिले के पाली विकासखंड स्थित शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय नोनबिर्रा में पदस्थ व्याख्याता परसराम रात्रे की कोरोना से मौत हो गई। लगातार शिक्षकों की कोरोना संक्रमण में आने से हो रही मौतों को लेकर शिक्षक संघ ने खेद व्यक्त किया है। शिक्षकों का आरोप है कि जिला प्रशासन शिक्षकों की फ्रंटलाइन वर्कर के रूप में कोविड जांच के लिए ड्यूटी तो लगा दे रहा है, लेकिन न तो उन्हें सुरक्षा के कोई साधन मुहैय्या कराए जा रहे हैं और न ही अभी तक सभी शिक्षकों और उनके परिवार को कोविड वैक्सीन लगाई गई है। शिक्षक संघ ने शिक्षकों की हो रही मौतों का जिम्मेदार जिला प्रशासन को बताया है।

जानकारी के मुताबिक विकासखंड पाली कोरबा के एसडीएम ने लेक्चरर परसराम रात्रे की ड्यूटी कोरोना के लक्षणात्मक मरीजों की पहचान कर उनका टेस्ट करवाने में लगाई थी। रात्रे की ड्यूटी तो लगा दी गई, लेकिन आरोप है कि उन्हें न तो मास्क, सेनेटाइजर और पीपीई किट दिया गया और न ही कोविड वैक्सीन लगाई गई। इन संसाधनों के अभाव में भी रात्रे अपनी ड्यूटी करते रहे। इसी दौरान वह कोरोना संक्रमित हो गए। तबीयत खराब होने पर उन्हें जिले के ईएसआईसी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया। यहां उपचार के दौरान उनकी मौत हो गई। शिक्षक की मौत से उनके परिवार मे मातम पसर गया है। आपको बता दें कि इससे पहले भी कोरबा जिले में कई शिक्षक कोरोना संक्रमित होने से दम तोड़ चुके हैं।

You cannot copy content of this page

en_USEnglish
Open chat
विज्ञापन के लिए इस नंबर पर संपर्क करें