June 21, 2021

(पूरी हकीकत)

कोरोना महामारी के रोकथाम व बचाव के लिए समाजसेवी महिलाओं ने दी अपनी राय एवं शिक्षा के क्षेत्र पर छात्रा ने दी सुझाव

न्यूज़ सर्च.इन रायपुर

रायपुर:- वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण से बचाव सावधानियां सहित हमारे कर्तव्यों व जिम्मेवारी पर छत्तीसगढ़ के कुछ समाजसेवी समाज प्रमुख महिलाओं गृहिणी व प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रही छात्राओं से हमारे संवाददाता ने एक विशेष चर्चा की जिसमें शासन-प्रशासन के गाइडलाइन का पालन करते हुए आम नागरिक एवं जनप्रतिनिधियों से कार्य व्यवहार समन्वय एकरूपता सहित कोरोनावायरस के तीसरे लहर से बचाव व तैयारी पर विस्तृत चर्चा हुई प्रस्तुत है उसके कुछ अंश
आशा अटल यादव उपाध्यक्ष जनपद पंचायत नर्मदापुर मैनपाट ने कहा वर्तमान व भविष्य के लिए वैश्विक महामारी कोरोनावायरस से बचने टीकाकरण के डोज लगाना ही एक बड़ा सार्थक उपाय शासन-प्रशासन डॉक्टर विशेषज्ञ बता रहे हैं ऐसी स्थिति में कोरोनावायरस के टीकाकरण हेतु हम प्रत्येक नागरिक को इसकी जिम्मेवारी निभानी होगी नगर के साथ-साथ कुछ पढ़े लिखे लोगों के मन में वैक्सीनेशन के प्रति जागरूकता बढ़ी है वहीं गांव जंगल व कुछ लोग टीकाकरण से अभी भी दिग्भ्रमित हैं अतः सभी समझदार लोग टीकाकरण के प्रति सकारात्मक वायुमंडल बनाएं ताकि एक वर्ष के भीतर सर्वाधिक लोगों को टीकाकरण हो सके और हम सब लोगों की जान बच सके सभी लोग इसकी शुरुआत अपने घर परिवार पड़ोस व मोहल्ले से करें।
श्रीमती रजनी रजक प्रदेश अध्यक्ष महिला प्रकोष्ठ छत्तीसगढ़ रजक समाज लोकगायिका ने कहा कोरोना के प्रकोप से अधिकांश बच्चे आज अनाथ हो गए तो वहीं कई बड़े बुजुर्गों ने अपने कमाऊ युवा पुत्र पुत्री बहु को खो दिया ऐसी स्थिति में अनाथ हुए बच्चे व बड़े बुजुर्ग दोनों के योग क्षेम की चिंता समाज के समक्ष एक बड़ी चुनौती है ऐसे आवश्यकता आधारित लोगो की ग्राम पंचायत व नगर में वार्डश: सूची बनाकर पात्र लोगों को शासन प्रशासन व समाज सेवी संस्थाएं क्या मदद कर सकते हैं विचार करें ताकि बच्चों की पढ़ाई लिखाई से लेकर उनके भविष्य की व्यवस्था बन सके उनके उज्जवल भविष्य हेतु उनको गोद लेकर मानव धर्म निभा कर मानवता का परिचय दें सम्भव हो तो शासन इनके योगक्षेम हेतु मासिक या वार्षिक कुछ मदद कर अपने राज धर्म भी निभा सकते हैं।
कु. दीप्ति यादव प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रही छात्रा ने कहा कोरोना से जिनके परिवार अब इस दुनिया में नहीं रहे ऐसे बच्चों के लिए पढ़ाई के खर्चे हेतु छत्तीसगढ़ महतारी दुलार योजना के अंतर्गत स्कॉलरशिप देने छत्तीसगढ़ राज्य सरकार की घोषणा सराहनीय एवं स्वागत योग्य पहल है। कोरोना काल में बच्चों की पढ़ाई सबसे अधिक प्रभावित हुवा है स्कूल कालेज साल भर से बंद हैं निम्न एवं मध्यम वर्गीय परिवार के बच्चों का तो पढ़ाई से मानो नाता ही टूट गया है देखने में आ रहा है कि बच्चे खेलकूद टीवी मोबाइल आदि में समय बर्बाद कर रहे हैं जो बहुत ज्यादा चिंता का विषय है भारत के भविष्य इन उभरते सितारों की पढ़ाई बाधित हुई है जिससे भविष्य में इनके शिक्षा का स्तर गिरेगा यह बच्चे मजबूती के साथ आगे नहीं बढ़ पाएंगे अतएव इनकी पढ़ाई पूर्ण कराने की दृष्टि से रेडियो टेलीविजन के माध्यम से पढ़ाई की योजना शिक्षाविद कर सकते हैं साथ ही सोशल मीडिया मोबाइल पर कुछ ऐप बनाकर कक्षाश: विषयश: शिक्षकगण ऑडियो वीडियो तैयार करके पढ़ाई के वैकल्पिक व्यवस्था पर अपने अपने स्कूल की गंभीरता पूर्वक चिंतन करें साथ ही पारा मोहल्ला क्लास में उस मुहल्ले के युवक युवतियों का भी सहयोग सार्थक होगा क्योंकि संभावित है एक वर्ष और इस महामारी के कारण पढ़ाई बाधित हो सकती है साथ ही जिन बच्चों के माता-पिता कोरोना के काल के गाल में समा गए ऐसे बच्चों की पढ़ाई की चिंता पंचायत नगर पालिका तथा कुछ समाजसेवी संस्थाएं मिलकर करें ताकि उनका भविष्य बन सके।
धनमती यादव सभापति वनसमिति जिला पंचायत गरियाबंद प्रदेश उपाध्यक्ष सर्व यादव समाज महिला प्रकोष्ठ ने कहा आज व्हाट्सएप से हमारे पास जो कुछ भी कंटेंट आता है उसे हम बिना पढ़े आगे फॉरवर्ड करने के आदि हैं इस आदत में सुधार करने की आवश्यकता है सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का उपयोग सकारात्मकता बढ़ाने के लिए करें नकारात्मकता फैलाने वाली चीजों को प्रतिबंधित करें व स्वयं उन्हें डिलीट कर दें और अन्य लोगों को फॉरवर्ड करने से मना करें नकारात्मक संदेश से लोगों के मन में भ्रांतियां उत्पन्न होती है जिससे मन मस्तिष्क में बुरा प्रभाव पड़ता है लोगों का मनोबल टूटता है डॉक्टर नर्स बारह पन्द्रह घंटे मरीजों की लगातार सेवा कर रहे हैं उसके बावजूद कोरोनावायरस के केस बढ़ रहे हैं मृतकों की संख्या भी कुछ कम नहीं लेकिन बहुत बड़ी संख्या में कोरोनावायरस को जीतकर नई जिंदगी जीने वालों की संख्या भी बहुत बड़ी है अतः मीडिया समाचार पत्रों से भी निवेदन करती हूं कि सकारात्मक समाचार अधिक छापे ताकि लोगों का आत्मविश्वास बढ़े।
लोकेश्वरी नेताम प्रदेश अध्यक्ष महिला प्रकोष्ठ जिला पंचायत सदस्य गरियाबंद ने कहा टीकाकरण स्थल में अधिक सावधानी बरतने की आवश्यकता है सोशल डिस्टेंस का पालन मास्क व सैनिटाइजर का उपयोग यहां बहुत महत्वपूर्ण है जिसके अभाव में कुछ लोग टीका लगाते समय संक्रमित हो सकते हैं और स्वास्थ्य खराब हो सकता हैं ऐसा कुछ अनुभव आया है फिर दोष वैक्सीन पर लगाते हैं अतएव टीका लगाने वाले तथा टीकाकरण केंद्र दोनों सचेत रहें साथ ही टीकाकरण के बाद शराब व अन्य नशीले पदार्थों का सेवन कुछ दिन नहीं करना चाहिए तो टीकाकरण अभियान सफल होगा
सुश्री प्रमिला रात्रे उपाध्यक्ष छत्तीसगढ़िया सर्व समाज महासंघ ने कहा पिछले सवा माह से लॉक डाउन के कारण उद्योग धंधे और कारोबार का एक बड़ा हिस्सा काफी प्रभावित हुआ है बेरोजगारी की विकरालता ने एक नई समस्या खड़े कर दी है कोरोना के कारण मौत के आंकड़े तेजी से बढ़े हैं बड़े असमंजस की स्थिति बन चुकी है पहले रोजगार बचाएं या जिंदगी शहरों से पलायन करके लोग वापस गांव आ रहे हैं किंतु गांव में भी रोजगार मिलना बड़ा मुश्किल काम है खेती का काम भी खत्म हो चुका है खरीफ सीजन के लिए अभी वक्त है इस तरह दोबारा नौकरी पेशा हासिल करना एक बड़ा मुश्किल काम है ऐसी स्थिति में गांव से पलायन ना हो गांव अथवा आसपास उनके रोजगार की व्यवस्था हो जावे ताकि मजदूर व्यक्ति भी गाँव मे रोजगार प्राप्त कर सके।
सुनीता यादव प्रदेश अध्यक्ष सर्व यादव समाज महिला प्रकोष्ठ छत्तीसगढ़ ने कहा मानव समाज के लिए चुनौती बने इस वायरस से लड़ने के लिए हमें कुछ सावधानियों के साथ उचित खान पान रहन सहन व ध्यानयोग के अभ्यास से कोरोना को हमारे द्वारा हराया जा सकता है किसी भी प्रकार के वायरस को अपने शरीर में पनपने ना देने के लिए हमारा इम्यूनिटी मजबूत होना चाहिए सात्विक आहार के साथ-साथ आत्मिक शक्ति भी प्रबल होनी चाहिए देखने को मिलता है कि मानसिक रूप से कमजोर हो जाने के कारण शारीरिक रूप से मजबूत लोग जीवन की बाजी हार गए हैं अतएव आत्मिक शक्ति प्रबल करे तोआत्म विश्वास स्वयं प्रबल हो जयेगा।
जमुना सिरमौर एडवोकेट महासचिव छत्तीसगढ़िया सर्व समाज महासंघ महिला प्रकोष्ठ ने कहा सामान्य तौर पर शादी मृतक कार्यक्रम हॉस्पिटल बाजार चुनावी सभा अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट व भीड़भाड़ में प्रशासन के कोरोना गाइड लाइन का पालन ना करने से करोना के दूसरे कहर के हम शिकार हुए हैं घर से बाहर कोरोना वायरस से बचाव का सर्वाधिक कारगर उपाय मास्क ही है जो गरीब अमीर सबके पास उपलब्ध है अतः अपने कार्य क्षेत्र व परिस्थितिजन्य थ्री लेयर मास्क का उपयोग करें लेकिन सोशल दूरी का भी पालन भी अनिवार्यता करें साथ ही साबुन से अच्छी तरह हाथ धोकर व सैनिटाइजर का उपयोग करके हम कोरोना संक्रमण से बच सकते हैं।
किरण संतोष यादव जिला पंचायत सदस्य मस्तूरी बिलासपुर ने कहा कोरोना की पहली लहर से बड़े बुजुर्ग दूसरी लहर में युवा बड़ी संख्या में संक्रमित हुए व कुछ परलोक गमन कर गए कुछ जीवन के अंतिम सांसें गिन रहे हैं वहीं अधिकांश लोग स्वस्थ होकर अपने परिवार के बीच धन्यता प्राप्त किए हैं लेकिन वैज्ञानिक सलाहकार व चिकित्सकों की राय अनुसार कोरोना की तीसरी लहर संभवतया बच्चों को अपना शिकार बनाएगी इसलिए शासन प्रशासन आवश्यक संसाधन हॉस्पिटल दवाइयां व वेक्सीनेशन की तैयारी समय रहते कर ले ताकि हमारी आंखों के तारे हमारा भविष्य हमारे नैनिहाल सुरक्षित रह सके यह तभी संभव है जब हमारे राजनेता आरोप-प्रत्यारोप व राजनीति से ऊपर उठकर एक दूसरे की तारीफ करते हुवे सब मिलकर
कोरोना के विरुद्ध काम करें।
सरोज यादव अध्यक्ष नगर पंचायत लेदरी जिला कोरिया ने कहा कोरोना संक्रमण के अब शहरों के साथ-साथ ग्रामीण व वनवासी क्षेत्र में पहुंचने से भयावहता बढ़ रही है अतः सरकारी हॉस्पिटल के साथ-साथ प्राइवेट हॉस्पिटल को भी वैक्सीनेशन हेतु अवसर देना चाहिए ताकि जिनके पास आर्थिक स्थिति ठीक है वे प्राइवेट हॉस्पिटल में वैक्सीनेशन करा सके जिससे शासकीय अस्पताल की भीड़ कम होगी सभी जनप्रतिनिधि आपसी वैमनस्यता छोड़कर जनहित में टीकाकरण के साथ कोरोना से बचाव के सभी उपाय प्रसारित कर जीवन बचाने की मुहिम चलाएं ।
रानू यदु गृहिणी कुरूद जिला धमतरी ने कहा अनुभव आया है कि लोग कोरोना को बहुत बड़ी बीमारी समझ कर इसकी भयावहता से ही डरे सहमे हैं जबकि यह कोई गंभीर बीमारी नहीं है घर हो या हॉस्पिटल कोरोनावायरस से पीड़ित कई लोगों को हार्ट अटैक आ चुका है और कुछ प्राण गवा चुके हैं कोरोना लक्षण प्रदर्शित होने पर तुरंत परीक्षण कराकर आवश्यकतानुसार स्वयं को आइसोलेट कर लेवे अथवा हॉस्पिटल में एडमिट हो जावे रिश्तेदारों को सकारात्मक बातें मरीज के साथ करते हुए स्वस्थ रहने का आश्वासन देना उनके साथ अच्छी बातें करना ताकि वह जल्द स्वस्थ हो सके। अब ग्रामीण क्षेत्र में कोरोना पैर पसार रहा है अतएव गांव में आईसोलेन सेंटर के रूप में पंचायत भवन स्कूल आदि का उपयोग करना चाहिए क्योंकि गाँव परिवारों में अलग से कमरे की कमी होती है वहां मरीजो के भोजन की व्यवस्था उनके घर से या पंचायत करवा सकती है।
रानी पटेल कार्य.प्रदेश अध्यक्ष महिला प्रकोष्ठ जिला पंचायत सदस्य रायपुर ने कहा लगभग 45 दिन के इस लॉकडाउन के साथ शासन प्रशासन विभिन्न स्वयंसेवी संस्थाओं द्वारा जन जागरुकता के साथ साथ कोरेनटाइन सेंटर होस्पिटसल बेड ऑक्सीजन वेल्टीनेटर की संख्या बढ़ाने के कारण कुछ हद तक तो संक्रमण की दर कम हो चुकी है मौत के आंकड़े भी अब कम आ रहे हैं अब हमें यह सुनिश्चित करना है कि नए हॉटस्पॉट न बनने पाए अब संक्रमण की चैन टूटना ही बेहतर होगा। पहली लहर में तो किसी को मालूम ही नहीं था कि दूसरा और तीसरा लहर भी आ सकता है नवंबर दिसंबर में तो मानो कोरोना को मात ही दे दिया था किंतु इस लहर में तो कोई ऐसा परिवार समाज नहीं होगा जो कोरोना से अछूता होगा जिन्होंने अपने दोस्तों रिश्तेदारों को ना खोया हो अब तीसरे लहर का खौफ सताने लगा है यह खौफ अगर हमने पहली लहर से सीख ली होती तो हम दूसरे लहर के खौफ से हमारी इतनी दुर्दशा नहीं होती इसलिए अब हम तीसरी लहर के खतरे से सावधान रहना होगा शासन प्रशासन को कठोरता से नियम बनाकर पालन कराने हेतु प्रतिबद्ध करना होगा।

You cannot copy content of this page

en_USEnglish
Open chat
विज्ञापन के लिए इस नंबर पर संपर्क करें