June 22, 2021

(पूरी हकीकत)

दवा+दारू से बने जहर ने ली 9 जिंदगियां… कई परिवारों के सिर से मुखिया का साया छिना

न्यूज सर्च-बिलासपुर – बिल्हा ब्लॉक के कोरमी ग्राम में हुई 9 लोगों की मौत पहेली बनकर रह गई है। यहां ग्राम कोरमी और बन्नाक चौक में होम्योपैथिक दवा पीने के बाद 9 लोगों की मौत होने से हड़कंप मचा हुआ है। इसके बाद भी जिला प्रशासन मौत के कारण पर पर्दा डालने में लगा हुआ है। सभी यह कह रहे हैं कि दवा में शराब मिलाकर सभी ने सेवन किया, लेकिन इसकी पुष्टि नहीं की जा रही है। चिकित्सा क्षेत्र से जुड़े विशेषज्ञ का दावा है कि जिस दवा का सेवन मृतकों ने किया है उससे हालत गंभीर तो हो सकती है पर जान नहीं जा सकती। अब इन 9 मौतों की पहेली पीएम रिपोर्ट आने के बाद ही सुलझेगी।
पुलिस की पूछताछ में ग्रामीणों ने बताया कि उन्होंने होम्योपैथिक सिरप का सेवन किया था। इनमें और भी कई लोग शामिल थे, जिनमें चार का उपचार जारी है। पुलिस की प्रारंभिक जांच में बस इतना ही पता चला है कि ग्रामीणों ने ज्यादा मात्रा दवा का सेवन कर लिया, जिसके रिएक्शन से उनकी हालत बिगड़ी। इसके बाद उन्हें गंभीर हालात में भर्ती कराया गया। इस घटना के बाद जिला प्रशासन ने कोरमी स्वास्थ्य शिविर भी लगवाया गया था।

गांव में कराई मुनादी

घटना के बाद गांव पहुंची प्रशासन की टीम… मौजूद लोग।

कोरमी गांव में दवा पीने के बाद एक-एक कर हुई 9 लोगों की मौत की जानकारी जब प्रशासन, पुलिस और स्वास्थ्य विभाग के पास पहुंची तो गुरुवार की सुबह ही वहां अमला दौड़ा। रामायण मंडल स्थान पर स्वास्थ्य शिविर लगाया गया। पूरे गांव में मुनादी करवाई गई कि जिस-जिस ने होम्योपैथिक दवाई पी है वह अपनी जांच कराकर दवा ले ले। उसके बाद गांव के करीब-करीब हर घर से लोग शिविर में पहुंचे। इनकी पूरी डिटेल लेने के बाद डॉक्टरों ने दवाई दी और हिदायत दी कि कुछ भी परेशानी लगे तो फौरन स्वास्थ्य केंद्र में पहुंचे और अपनी जांच कराएं।

इनकी हुई मौत

इस दवा को पीने से हुई मौत।

1- दीपक धुरी उम्र 30 वर्ष निवासी बन्नाकडीह कोरमी पेशे से मजदूरी करता था। परिवार में पत्नी के अलावा 2 बच्चे हैं। कल बुधवार को तबियत खराब हुई तो एम्बुलेंस बुलाकर सिम्स में भर्ती कराया जहां उसकी मौत हो गई।
2- कैलाश धुरी 50 वर्ष निवासी बजरंग चौक डबरीपारा पेशे से इलेक्ट्रिशियन का काम करता था। बुधवार को तबियत खराब हुई तो परिजनों ने सिम्स में भर्ती कराया। जहां सुबह उसकी मौत हो गई। कैलाश के चार बेटी तथा 1 बेटा हैंं। सभी बच्चों की शादी हो चुकी है।
3- समारु धुरी निवासी कोरमी 35 वर्ष खेती-बाड़ी में मजदूरी का काम करता था। मंगलवार को तबियत खराब हुई । परिजन इलाज के लिए लेकर जा रहे थे । अभी घर से चार कदम चले ही थे कि समारू ने दम तोड़ दिया। परिवार में दो बेटी हैं जो अभी छोटी हैं।
4- रामदयाल धुरी 40 वर्ष निवासी बन्नाकडीह खेती-बाड़ी का काम करता था। तबियत खराब हुई और बताया कि आंखों से कुछ दिख नहीं रहा। सांस में दिक्कत है। इलाज मिलता उससे पहले ही दम तोड़ दिया। परिवार में 3 बेटे तथा 1 बेटी है। 2 बेटों की शादी हो चुकी है।
5- कमलेश धुरी 35 वर्ष निवासी बन्नाकडीह ड्राइवरी का काम करता था । बुधवार को हालत खराब हुई।कहा बेचैनी हो रही है । एम्बुलेंस को फोन किया पर वह तब तक पहुंचती तब तक कमलेश ने दम तोड़ दिया। 1 बेटा है जो छोटा है। कमलेश अपने मामा कृष्णा धुरी के घर में रहता था ।
6- अक्षय धुरी 25 वर्ष निवासी कोरमी चौकीदारी का काम करता था। पत्नी पूर्णिमा व 3 बच्चे हैं। पत्नी चाय लेकर गई तो हालत बिगड़ी थी। इतने में बहन अमरावती भी पहुंच गई। हालत देखकर औरों को बुलाया लेकिन कोई मदद हो पाती उससे पहले ही दम तोड़ दिया ।
7- खेमचंद 41 वर्ष निवासी रामायण मंडल कोरमी बुधवार को हालत खराब हुई। खाना भी नहीं खाया । सिम्स में भर्ती कराया जहां बुधवार की रात ही दम तोड़ दिया । परिवार में 2 बेटे तथा 1 बेटी है । एक बेटे की शादी हो चुकी है।
8- राजेश धुरी 33 वर्ष विकलांग था इसलिए कुछ काम नहीं करता था। मां से अलग रहता था। राजेश की मां रनिया धुरी ने बताया कि उसने किसी प्रकार का कोई नशा नहीं किया था लेकिन रात में तबियत खराब हो गई। राजेश की पत्नी सम्पति ने जानकारी दी तो उसके कमरे में पहुंचे। रात के 2 बजे रह रहे थे कमरे में पहुंचे तो देखा खतम हो चुका था।
9- गोवर्धन 22 वर्ष पिता उमाशंकर गुरुवार की देर शाम दम तोड़ा।

You cannot copy content of this page

en_USEnglish
Open chat
विज्ञापन के लिए इस नंबर पर संपर्क करें