May 12, 2021

(पूरी हकीकत)

गांव के लोगों ने सहारा नहीं दिया तो प्रशासन ने कराया अंतिम संस्कार

न्यूज सर्च, मुंगेली ।

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस का खौफ लोगों में इस कदर घर कर गया है कि वह अपनों का अंतिम संस्कार करने से डर रहे हैं। कई जगह इतनी अमानवीय घटनाएं देखने को मिल रही हैं कि वह सारी हदें पार कर रही हैं।

ऐसा ही मामला मुंगेली जिला के पथरिया ब्लॉक के सरगांव थाना अंतर्गत ग्राम पंचायत सांवतपुर में देखने को मिला। यहां कोरोना वायरस की वजह से बुधवार की रात 12 बजे अंतिम सांस लिए पुसऊ राम देवांगन उम्र 42 वर्ष को उसके परिजनों ने अंतिम संस्कार के लिए सुबह से दोपहर हो जाने के बाद भी हाथ तक नहीं लगाया। इसकी जानकारी सरपंच व ग्राम के कोटवार ने थाने के साथ नगर प्रशासन को दी। कोरोना महामारी के बढ़ते प्रकोप और मामले की गंभीरता को देखते हुए सरगांव थाना प्रभारी केसर पराग, तहसीलदार अभिषेक राठौर व सीएमओ विकास पाटले ने स्वास्थ विभाग से बात कर एंबुलेंस एवं पीपीई किट की व्यवस्था कर नगर पंचायत सरगांव से सफाई कर्मचारियों के द्वारा ग्राम पंचायत सावंतपुर पहुंचकर घर से मृतक पुसऊ राम देवांगन को कोविड के नियम का पालन करते हुए स्थानीय मुक्तिधाम में मृतक के पुत्र के हाथों अंतिम संस्कार करवाया।

ग्रामीणों ने बताया कि मृतक पुसऊ राम देवांगन ने अपने पुत्र के साथ प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सरगांव में 26 अप्रैल को कोरोना टेस्ट करवाया था रिपोर्ट में पॉजिटिव पाए जाने पर वे स्वयं घर पर ही होम क्वारेन्टाइन हो गए थे। बुधवार को ज्यादा तबियत खराब हो जाने से उनका देहांत हो गया।

You cannot copy content of this page

en_USEnglish
Open chat
विज्ञापन के लिए इस नंबर पर संपर्क करें