May 18, 2021

(पूरी हकीकत)

सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र परिसर में फैली हुई है गंदगी,बदबू से परेशान मरीज सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र परिसर में प्रधानमंत्री के स्वच्छ भारत अभियान की सरेआम धज्जियां उड़ाई जा रही…

सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र परिसर में फैली हुई है गंदगी,बदबू से परेशान मरीज

  • सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र परिसर में प्रधानमंत्री के स्वच्छ भारत अभियान की सरेआम धज्जियां उड़ाई जा रही…

बम्हनीडीह। ब्लाक मुख्यालय स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र परिसर में प्रधानमंत्री के स्वच्छ भारत अभियान की सरेआम धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। अस्पताल में बीमार लोगों का इलाज होता है। वहां साफ सफाई और स्वच्छ वातावरण लोगों को मिलता है जिससे कि बीमार दवाओं और स्वच्छ वातावरण में जल्दी स्वस्थ हों पर बम्हनीडीह के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में इससे ठीक उलटा देखने को मिल रहा है।

आलम यह है कि मरीजों के भर्ती वार्ड के पास ही कचरे और गंदगी के ढेर लगे हुए हैं। इसके चलते वार्ड में भर्ती मरीज और उनके परिजनों को पास में पड़े कचरे और गंदगी से आने वाली बदबू के कारण वार्ड में बैठना दूभर हो रहा है। साथ ही शौचालयों की स्थिति भी बदतर है।अस्पताल से निकलने वाला कचरा और गंदगी वार्ड के पास हफ्तों तक पड़ी रहती है। इस कारण मरीजों और उनके परिजनों को अन्य संक्रामक बीमारियों का भी खतरा बना रहता है। वहीं अस्पताल से निकलने वाले कचरे और गंदगी को फेंकने के लिए अस्पताल द्वारा व्यवस्था करनी होती है। यह भी ध्यान रखा जाता है कि अस्पताल के संक्रमित कचरे और गंदगी को अस्पताल परिसर में ही गड्ढा खोदकर उसमें डाला जाता है और उसे नष्ट किया जाता है, लेकिन लगता है बम्हनीडीह सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के जिम्मेदार अस्पताल से निकलने वाले कचरे और गंदगी को अस्पताल परिसर में वार्ड के पास खुले में फेंककर अस्पताल में आने वाले मरीजों और परिजनों को अन्य संक्रामक बीमारियों की गिरफ्त में लाना चाहते हैं। जब तेज धूप पड़ती है और यह कचरा सूख जाता है, वार्ड के पास लगे कचरे और गंदगी के ढेर से तेज हवा में कचरा वार्ड में भी पहुंच जाता है जो कि मरीजों के लिए परेशानी का सबब बन रहा है।

  • सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में सैकड़ों मरीजों का होता है इलाज 


बम्हनीडीह सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में क्षेत्र के पचासों गांव से लोग इलाज कराने प्रतिदिन आते हैं। साथ ही कई दर्जन बीमार लोग सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में कुछ दिन भर्ती रहकर इलाज कराते हैं। क्षेत्र के जनप्रिनिधियों ने अस्पताल परिसर में फैले कचरे को वार्ड के पास से हटाने और नष्ट करने की मांग की है, जिससे कि अस्पताल में भर्ती मरीजों और उनके परिजनों को परिसर में पड़े इस कचरे से निकलने वाली बदबू से निजात मिल सके। 
  • नहीं हो रही नियमित साफ-सफाई 


अस्पताल परिसर से निकलने वाले कचरे और गंदगी को फेंकने के लिए अस्पताल परिसर में ही एक जगह निर्धारित की गई है, जहां बाकायदा गड्ढा खोदा गया है और नियमानुसार उसमें अस्पताल से निकलने वाले कचरे और गंदगी को एकत्रित कर डाला जाना चाहिए पर अस्पताल प्रबंधन और कर्मचारियों की लापरवाही के चलते निर्धारित स्थान पर कचरा नहीं फेंका जा रहा। इसके साथ ही नियमित साफ सफाई न होने के कारण अस्पताल परिसर में गंदगी और कचरे के ढेर लगे हुए हैं जो कि मरीजों और उनके परिजनों के लिए खासा नुकसानदायक साबित हो रहे हैं। मरीजों और परिजनों को संक्रामक बीमारियां होने का भी डर बना हुआ है

You cannot copy content of this page

en_USEnglish
Open chat
विज्ञापन के लिए इस नंबर पर संपर्क करें