May 16, 2021

(पूरी हकीकत)

रेमडेसीवीर के सौदागरों के खिलाफ मुहिम… 2 चढ़े पुलिस के हत्थे… कैसे पकड़ाये जानने के लिए पढ़े पूरी खबर….

न्यूज सर्च@सरगुजा :-

सरगुजा:- कोरोना संक्रमितों के इलाज के उपयोग में आने वाले रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी से सरगुजा भी अछूता नहीं रहा। तीन दिन पूर्व रेमडेसिविर के कालाबाजारी की बातचीत का ऑडियो वायरल होने के बाद स्वास्थ अमले की टीम हरकत में आई। मामले में अपराध पंजीबद्ध होने के बाद कोतवाली पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। जबकि तीसरे की खोज की जा रही है।

जिले में कोरोना संक्रमण काफी तेजी से फैल रहा है। हर दिन मौत के मामले सामने आ रहे हैं। जिससे कोरोना संक्रमितों के इलाज में प्रयोग में आने वाले इंजेक्शन रेमडेसिवर की मांग बढ़ गई है। मेडिकल क्षेत्र से जुड़े लोग इसकी कालाबाजारी करने में लगे हैं। तीन दिन पूर्व रेमडेसिवर की कालाबाजारी की शिकायत पर ड्रग्स इंस्पेक्टर ने ग्राहक बनकर एक फोन नंबर पर इंजेक्शन उपलब्ध कराने की मांग की। बातचीत में कालाबाजारियों द्वारा 15 हजार रुपए की मांग की गई थी। इसका ऑडियो वायरल होने पर जिला प्रशासन के निर्देश पर इसकी रिपोर्ट कोतवाली में दर्ज कराई थी। पुलिस ने उक्त नंबर की जांच कर आरोपियों के बारे में पता लगाया ।

पेंड्रा मरवाही निवासी सौरभ डेनियल पूर्व में अंबिकापुर में रहकर एक निजी अस्पताल में लैब में काम करता था। वहीं दूसरा आरोपी सनावल निवासी देव राज प्रसाद शहर के दर्रीपारा में रहकर एक मेडिकल एजेंसी में काम करता था। यह दोनों अपने साथी शुभम गुप्ता के साथ मिलकर रेमडेसिविर की कालाबाजारी कर रहे थे। पुलिस ने सौरभ डेनियल व देवराज प्रसाद को गिरफ्तार कर धारा 420, 511 व 34 के खिलाफ कार्रवाई कर उन्हें जेल भेज दिया है। वहीं शुभम गुप्ता की तलाश जारी है।

मेडिकल व्यवसाय से जुड़े हैं तीनों आरोपी

पुलिस ने बताया कि तीनों आरोपी मेडिकल लाइन से जुड़े हैं। इस कारण इनकी पहचान कई एमआर व मेडिकल स्टोर संचालक से भी है। कोरोना संक्रमितों के इलाज में प्रयोग में आने वाले रेमडेसिविर इंजेक्शन की मांग काफी बढ़ी हुई है। इसका फायदा उठाते हुए ये तीनों कालाबाजारी कर रहे थे।

You cannot copy content of this page

en_USEnglish
Open chat
विज्ञापन के लिए इस नंबर पर संपर्क करें