March 2, 2021

(पूरी हकीकत)

दो हफ्ते के लिए बढ़ा लॉकडाउन, 17 मई तक ये रहेगी व्यवस्था

न्यूज़ सर्च@नई दिल्ली:- लॉकडाउन खुलने की आस लगाकर बैठे लोगों की सोच पर फिर से एक बार पानी फिर गया है। लगातार कोरोना के बढ़ते केसों को देखते हुए केंद्र सरकार ने लाख डाउन की अवधि 17 मई तक के लिए बढ़ा दी है। केंद्र सरकार ने इसके साथ ही कुछ निर्देश भी जारी किए हैं जानने के लिए पढ़ें पूरी खबर।
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने देशभर को रेड, ऑरेंज और ग्रीन जोनों में बांटा है। इसके साथ ही जहां ग्रीन जोन में सभी बड़ी आर्थिक गतिविधियों की छूट दे दी गई है। ताजा आदेश के मुताबिक, ग्रीन जोनों में बसें चल सकेंगी, लेकिन बसों की क्षमता 50% से ज्यादा नहीं होगी। यानी, अगर किसी बस में 50 सीटें हैं तो उसमें 25 से ज्यादा यात्री नहीं चढ़ेंगे। इसी तरह, डीपो में भी 50% से ज्यादा कर्मचारी काम नहीं करेंगे। जबकि यलो और रेड जोन में अभी कड़ाई  जारी है।
देश में इस तरह बनाए गए हैं जोन
ध्यान रहे कि पूरे देश को 733 जोनों में बांटा गया है। इनमें 130 रेड जोन, 284 ऑरेंज जोन जबकि 319 ग्रीन जोन घोषित किए गए हैं। ग्रीन जोन के जिलों में नाई की दुकानें, सैलून समेत अन्य जरूरी सेवाओं और वस्तुएं मुहैया कराने वाले संस्थान भी 4 मई से खुल जाएंगे। सिनेमा हॉल, मॉल, जिम, स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स आदि बंद रहेंगे।
देश में 307 जिले ग्रीन जोन में
देश में 307 जिले अभी भी कोरोना से अछूते हैं इन्हें मिलाते हुए 319 जिले ग्रीन जोन्स बनाए हैं। 3 मई के बाद इन जिलों में फैक्ट्रियों, दुकानों, छोटे-मोटे उद्योगों समेत ट्रांसपोर्ट और अन्य सेवाओं को भी शर्तों के साथ पूरी तरह खोलने की अनुमति दे दी गई है। गौरतलब है कि जिन जिलों में पिछले 21 दिनों से कोरोना वायरस के संक्रमण का एक भी मामला नहीं आता है, उन्हें ग्रीन जोन घोषित कर दिया जाता है। पहले यह मियाद 28 दिनों की थी जिसे केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने घटाकर 21 दिन कर दी।
पूरी दिल्ली सहित 129 जिले रेड जोन में
देश में 130 जिले रेड जोन्स में हैं यानी वहां कोरोना वायरस के हॉटस्पॉट्स हैं। पूरी दिल्ली रेड जोन में है। मुंबई, अहमदाबाद, सूरत जैसे बड़े औद्योगिक केंद्र भी रेड जोन्स में हैं, जहां रियायतों की गुंजाइश न के बराबर है।

You cannot copy content of this page

en_USEnglish
Open chat
विज्ञापन के लिए इस नंबर पर संपर्क करें