March 4, 2021

(पूरी हकीकत)

किसान की पिटाई मामले में हटाए गए आईजी, कलेक्टर व एसपी, उच्च स्तरीय जांच कमेटी गठित

न्यूज़ सर्च@भोपाल:- गुना के कैंट थाना क्षेत्र अंतर्गत पुलिस द्वारा अनुसूचित जाति वर्ग के एक किसान की बर्बरतापूर्ण पिटाई  (Guna dalit farmer beaten case) का मामला गर्माता जा रहा है। पिटाई का वीडियो वायरल होने के बाद मामले को गंभीरता से लेते हुए राज्य शासन ने देर रात ग्वालियर रेंज के आइजी राजाबाबू सिंह, गुना के कलेक्टर एस. विश्वनाथन और पुलिस अधीक्षक तरण नायक को तत्काल प्रभाव से हटा दिया है। साथ ही आईजी पुलिस मुख्यालय में पदस्थ अविनाश शर्मा ने ग्वालियर रेंज के आईजी व 26वीं वाहिनी गुना में पदस्थ राजेश कुमार सिंह को एसपी बनाया गया है।
गौरतलब है कि मंगलवार को गुना कैंट इलाके में कॉलेज की जमीन पर कब्जा हटाने के लिए पुलिस ने वहां कब्जा कर खेती कर रहे किसान की बेरहमी से पिटाई  (Guna dalit farmer beaten case) की थी। इसके बाद किसान दंपती ने कीटनाशक पी लिया था। बुधवार को मामले का वीडियो जब वायरल हुआ तो पूरे प्रदेश में बवाल मच गया।
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने देर शाम न सिर्फ मामले की उच्च स्तरीय जांच के आदेश दिए, बल्कि गुना कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक सहित आईजी को भी हटाने के निर्देश दे दिए। देर रात सामान्य प्रशासन विभाग ने गुना के कलेक्टर एस. विश्वनाथन और गृह विभाग ने आइजी राजाबाबू सिंह व पुलिस अधीक्षक नायक को हटा दिया।

गृहमंत्री ने किया ट्वीट
प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने ट्वीट कर बताया कि घटना के उच्चस्तरीय जांच के आदेश दे दिए गए हैं। भोपाल से टीम गुना जाकर मामले की जांच करेगी। दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा।

सिंधिया ने भी किया ट्वीट
कांग्रेस से भाजपा में शामिल हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ट्वीट किया है कि ‘गुना की घटना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। इस संबंध में मैंने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से चर्चा कर के ऐसे असंवेदनशील व दोषी अधिकारियों पर कड़ी कार्यवाही करने का अनुरोध किया है।

You cannot copy content of this page

en_USEnglish
Open chat
विज्ञापन के लिए इस नंबर पर संपर्क करें