March 8, 2021

(पूरी हकीकत)

बिल गेट्स, ओबामा, एप्पल समेत कई दिग्गजों के ट्विटर अकाउंट हैक

CYBER ATTACK : अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प (Donald Trump), पूर्व राष्ट्रपति ओबामा (Barack Obama), एप्पल (Apple) और बिलगेट्स (Bill Gates) समेत कई बड़े लोगों का ट्विटर हैंडल हैक कर लिया गया है। इसका खुलासा होने से पूरी दुनिया हैरान है। लोगों को अब बपनी प्राइवेसी लीक (privacy lake) होने की चिंता सताने लगी है।

न्यूज़ सर्च@इंटरनेट डेस्क:- अमेरिका में डोनाल्ड ट्रम्प (Donald Trump), पूर्व राष्ट्रपति ओबामा (Barack Obama), एप्पल (Apple) और बिलगेट्स (Bill Gates) जैसे कई दिग्गज हस्तियों के ट्विटर अकाउंट हैक (Twitter Account Hacked) होने से पूरी दुनिया में तहलका मचा हुआ है। भारत सहित कई देशों का यहां तक मनना है कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप, पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा, माइक्रोसॉफ्ट के फाउंडर बिल गेट्स, दुनिया के सबसे अमीर और इन्वेस्टमेंट गुरु वारेन बफे और आईफोन की बनाने वाली कंपनी एप्पल जब इस साइबर अटैक से नहीं बचे तो बाकी देशों का क्या होगा।
खबरों के मुताबिक, हैकर्स बिटकॉइन घोटाले से जुड़े ट्विट कर रहे हैं। देश के बड़े बड़े दिग्गजों के नाम से ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया जा रहा है कि अगर वो यहां पैसा लगाते हैं तो उसे बीटीसी खाते में दोगुना कर दिया जाएगा। थोड़ी देर के बाद ट्विटर ने इस तरह के सभी मैसेज डिलीट करते हुए एक बयान जारी किया कि मामले की जांच की जा रही है और इस बारे में अपडेट कर दिया जाएगा। बताया जा रहा है कि सैकड़ों लोगों ने हैकरों को लाखों डॉलर भेज भी दिए हैं। इसकी जांच की जा रही है।

बिल गेट्स के ट्विटर अकाउंट पर लिखा ये मैसेज
जानकारी के अनुसार हैकर्स (hackers) ने माइक्रोसॉफ्ट फाउंडर (Microsoft founder) बिल गेट्स के ट्विटर अकाउंट से ट्वीट किया है कि ‘हर कोई मुझसे वापस देने को कह रहा है और अब समय आ गया है। मैं अगले 30 मिनट तक बीटीसी एड्रेस पर भेज गए सभी पेमेंट को दोगुना कर रहा हूं। आप एक हजार डॉलर भेजिए और मैं आपको दो हजार डॉलर वापस भेजूंगा।’ बाद में उनके अकाउंट से इस मैसेज को डिलीट कर दिया गया, लेकिन इसके कुछ देर बाद कई और दिग्गजों के अकाउंड भी हैक होने लगे।
क्या है बिटकॉइन?
बिटकॉइन एक तरह की वर्चुअल करेंसी है। ये दूसरी करेंसी जैसे डॉलर, रुपये या पाउन्ड की तरह भी इस्तेमाल की जा सकती है। इसको किसी भी दूसरी करेंसी से एक्सचेंज किया जा सकता है। ये करेंसी बिटकॉइन के रूप में साल 2009 में चलन में आई थी। इसका इस्तेमाल ग्लोबल पेमेंट के लिए किया जा रहा है।

You cannot copy content of this page

en_USEnglish
Open chat
विज्ञापन के लिए इस नंबर पर संपर्क करें