May 6, 2021

(पूरी हकीकत)

डॉक्टरों ने ईलाज करने से किया मना, कोरोना संक्रमित महिला की हॉस्पिटल के सामने हुवा डिलीवरी

न्यूज़ सर्च अकलतरा

मानवता को शर्मसार करने वाले दृश्य कोरोना काल मे सरकारी अस्पताल के स्टाफ द्वारा किया गया बता जा रहा है कि लक्ष्मी साहू 27 वर्ष पति राजेन्द्र साहू जो कि तरोद अकलतरा की रहने वाली है जो दिनांक 20/04/2021 को डिलीवरी कराने के लिए सरकारी अस्पताल अकलतरा 12 बजे के लगभग पहुचती है जिसे अस्पताल नर्स द्वारा कोरोना जांच कराने के लिए बोला गया। पीड़िता द्वारा सरकारी अस्पताल अकलतरा में ही कोरोना जांच के लिए पर्चा भराने के लिए लंबी इंतेजार कराया गया । तथा जिसका टेस्ट 2:30pm बजे हुआ और कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट 3:55pm बजे दिया गया जब तक पीड़ित महिला दर्द में बिलख रही थी । पॉजिटिव रिपोर्ट देख अस्पताल स्टाफ द्वारा उसे उसी हालत में अस्पताल से बाहर कर दिया गया जिससे महिला दर्द से तड़पती रही परिजनो द्वारा गुहार लगाने में भी कोई मदद न मिला। स्थिति बहुत भयावाह था। और वही अस्पताल के बाहर ही महिला का बच्चा हो गया। क्या सरकारी अस्पताल की स्थिति इतनी खराब है जहाँ जाओ तो कोरोना बता कर मरने के लिए छोड़ दिया जाता है । अगर पीड़ित ।महिला कोरोना पॉजिटिव है तो PPE किट पहन कर इलाज कर देते ।जब PPE किट पहनकर कोरोना टेस्ट किया जा सकता है तो इलाज क्यो नही ।..??

क्या यही व्यवस्था है शासकीय में ?
कोरोना हुआ मतलब कोई इलाज नही ?
ऐसे शर्मशार करने वाली घटना पर चुनाव् के वक्त हितैषी बनने वाले नेताओं क्या सामने आ के मदद करंगे?

You cannot copy content of this page

en_USEnglish
Open chat
विज्ञापन के लिए इस नंबर पर संपर्क करें