May 6, 2021

(पूरी हकीकत)

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा समितियों में बचे हुए धान का हो तुरंत निराकरण

रायपुर :- मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज राजधानी स्थित अपने निवास कार्यालय में आयोजित बैठक में राज्य में खरीफ विपणन वर्ष 2020-21 में उपार्जित धान के निराकरण और कस्टम मिलिंग की प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने इस दौरान समितियों में बचे धान के तुरंत निराकरण के लिए आवश्यक निर्देश दिए। साथ ही समितियों में निराकरण हेतु बचे धान के उचित रख-रखाव के लिए भी निर्देशित किया।

गौरतलब है कि खरीफ विपणन वर्ष 2020-21 में उपार्जित कुल 92 लाख मीट्रिक टन धान में से 47.37 लाख मीट्रिक टन धान डी.ओ. के माध्यम से मिलर्स को प्रदाय किया जा चुका है तथा 19.68 लाख मीट्रिक टन धान टी.ओ. के माध्यम से संग्रहण केन्द्रों को प्रदाय किया गया है। आज तक नीलामी के माध्यम से 4.59 लाख मीट्रिक टन धान का विक्रय किया जा चुका है। इस तरह समितियों में वर्तमान में 20.36 लाख मीट्रिक टन धान निराकरण हेतु शेष है।
इस अवसर पर मुख्य सचिव अमिताभ जैन, अपर मुख्य सचिव सुब्रत साहू, मुख्यमंत्री के सचिव सिद्धार्थ कोमल सिंह परदेशी तथा मार्कफेड के प्रबंध संचालक अंकित आनंद उपस्थित थे।

You cannot copy content of this page

en_USEnglish
Open chat
विज्ञापन के लिए इस नंबर पर संपर्क करें