May 6, 2021

(पूरी हकीकत)

जूनियर डाक्टरों ने मरीज के परीजनों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा… छीना मोबाईल

न्यूज़ सर्च@कानपुर :-
उत्तर प्रदेश के कानपुर में कुछ डॉक्टरों ने मरीज भर्ती करने की रिक्वेस्ट कर रहे परिजनों को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा है। मामला कानपुर के हैलट अस्पताल का है। हैलट अस्पताल के जूनियर डाक्टरों ने शनिवार को मरीज भर्ती कराने पहुंचे परिजनों को दौड़ा-दौड़ाकर मारा। इतना ही नहीं उन्होंने मरीज के परिजनों के मोबाइल तक छीन लिए और बगैर मरीज भर्ती किए भगा दिया। परिजनों का कसूर सिर्फ इतना था कि वे स्ट्रेचर पर तड़प रहे अपने मरीज को भर्ती करने के लिए डॉक्टरों से आग्रह कर रहे थे.। मौके पर मौजूद लोगों ने यह घटना अपने मोबाइल में रिकॉर्ड किया था जिसे डॉक्टरों ने बाद में डिलीट भी करा दिया। हालांकि कुछ लोगों के फोन में ये रिकॉर्डिंग रह गई थी जो अब वायरल हो रही है।

इस मामले पर जब एम्बुलेंस ड्राइवरों से बात की गई तो उन्होंने भी डॉक्टरों की गुंडई की सच्चाई बताई। हैरानी इस बात की है कि जब कोरोना मरीज के इलाज के समय ये कोरोना प्रोटोकॉल समझाकर परिजनों को दूर से भगा रहे थे। फिर यही लोग कैसे सारे प्रोटोकॉल भूलकर मरीज के करीब भी पहुंच गए और परिजनों को पीटने भी लगे। जानिए पूरा मामला चश्मदीद एम्बुलेंस ड्राइवर अजय ने बताया कि मोबाइल छीन लिए थे, मरीज स्ट्रेचर पर था. मरीज को भर्ती कराने को लेकर कुछ विवाद हुआ था। इस मामले पर जब हैलट के प्रशासन से बात की गई तो किसी डॉक्टर ने बात नहीं की. इस मामले पर जिला प्रशासन भी कुछ भी बोलने से कतरा रहा है।

You cannot copy content of this page

en_USEnglish
Open chat
विज्ञापन के लिए इस नंबर पर संपर्क करें