February 27, 2021

(पूरी हकीकत)

खुलेआम चल रहा अवैध खनन, अधिकारी एसी चैंबर में बैठ कर रहे सोशल डिस्टेंसिंग का पालन

न्यूज़ सर्च@दुर्ग- जिले में भले ही पत्थर खदाने लीज पर चल रही हैं, लेकिन वहां नियम कायदों का कोई पालन नहीं हो रहा है। इसका कारण जिम्मेदार अधिकारियों द्वारा कोरोना के नाम पर अपने एसी चैंबर से बाहर न निकलना है। जिला खनिज कार्यालय की हालत यह है की यहां के अधिकारी केके गोलघाटे अपने चैंबर में खनिज ठेकेदारों से बात तो करते हैं, लेकिन यदि कोई शिकायतकर्ता, फरियादी या अन्य व्यक्ति उनसे मिलने पहुंचता है तो वह कार्यालय में लगे इंटरकॉम से उनसे बात करते हैं। इससे साफ पता चलता है जिले का कलेक्टर तो कोरोना से बिना डरे लोगों के पास जा सकता है, लेकिन खनिज अधिकारी को विभाग के हित से कोई लेना देना नहीं है।

आपको बता दें कि जिले में चल रही क्रेशर खदानों का जायजा लेने जब न्यूज़ सर्च की टीम पाटन क्षेत्र की तरफ गई थी। यहां सैकड़ों फिट गहरी खदाने तो दिखीं, लेकिन लोगों और जानवरों को वहां तक जाने से रोकने के लिए कोई इंतजाम नहीं दिखे। क्रेशर संचालक ने हर साल सैकड़ों की संख्या पौधे तो लगाएं लेकिन वह मौके पर नहीं दिख रहे। पूछने पर जवाब दिया जाता है कि जानवर खा गए। ऐसा नहीं कि यहां खनिज विभाग के अधिकारी नहीं आते वो आते हैं, लेकिन उन्हें एनजीटी और खनिज नियमों की धज्जियां उड़ते नहीं दिख रही हैं।

बिना रॉयल्टी कैसे निकल रहा मॉल न्यूज़ सर्च करेगा खुलासा

न्यूज़ सर्च के पास एक एक्सक्लूसिव वीडियो है, जिसमें खदान के अंदर से गिट्टी लेकर निकल रहे ट्रैक्टर का चालक कहता है कि उस रायल्टी पर्ची नहीं दी जाती है। वहीं खदान संचालक के आदमी का कहना है कि जो मांगता है उसे रायल्टी पर्ची देते हैं और जो नहीं मांगता उसे नहीं देते।

इंटरकॉम पर खनिज अधिकारी से बात
जब इस बारे में बात करने के लिए खनिज अधिकारी केके गोलघाटे के पास उनके कार्यालय जाया गया तो पता चला कि वो काफी देर से किसी के साथ बात कर रहे हैं। पर्ची भेजने पर उन्होंने बिना मिले ऑफिस में लगे इंटरकॉम पर बात की और कहा कि सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के चलते वो ऑफिस में फाइल ही निपटाते हैं किसी से मिलते नहीं। बात करने के लिए इंटरकॉम से बात करते हैं। जो अधिकारी कोरोना से बचने लोगों से नहीं मिलता वो खदान जाकर निरीक्षण कैसे करता होगा यह बड़ा सवाल है।

You cannot copy content of this page

en_USEnglish
Open chat
विज्ञापन के लिए इस नंबर पर संपर्क करें