February 25, 2021

(पूरी हकीकत)

यहां मजदूरी के नाम पर किया जाता है नाबालिग लड़कियों का यौन शोषण, राष्ट्रीय महिला आयोग ने UP CM को लिखा पत्र

न्यूज़ सर्च@चित्रकूट. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के चित्रकूट (Chitrakoot) जिले में नाबालिग लड़कियों को खदानों में मजदूरी पाने के लिए अपनी अस्मत लुटवानी पड़ रही है। खदानों में जाने वाली नाबालिग लड़कियों बड़े पैमाने पर यौन शोषण (Sexual Harassment) किया जाता है। जब इस मामले की शिकायत यहां के कलेक्टर शेषमणि पांडे (DM Sheshmani Pandey) तक पहुंची तो उन्होंने तत्काल पूरे मामले की मजिस्ट्रेटियल जांच के आदेश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।
आपको बता दे खुद चित्रकूट के जिलाधिकारी शेषमणि पांडेय ने इस मामले पर ट्वीट किया है। उन्होंने लिखा है कि “अभी-अभी मैंने एक चैनल पर प्रसारित विशेष रिपोर्ट को देखा, वर्णित घटना क्रम की गहन जांच करने के लिए मजिस्ट्रेटी जांच के आदेश कर दिए हैं। यह काफी निंदनीय कृत्य हैं। जांच में जो भी दोषी पाया जाएगा उसे बख्शा नहीं जाएगा।”
महिला आयोग ने भी लिया संज्ञान
दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष ने भी इस मामले पर संज्ञान लिया है। दिल्ली महिला आयोग की चेयरपर्सन स्वाति मालीवाल ने ट्वीट कर योगी आदित्यनाथ सरकार से मामले में तुरंत सख्त कार्रवाई करने की मांग की है। उन्होंने लिखा है कि “उत्तर प्रदेश के चित्रकूट में 10 से 18 साल की बच्चियों के साथ खदानों में काम के बहाने दरिंदगी की जा रही है। ऐसा कैसे हो सकता है कि इन नन्ही बच्चियों को इस तरह नोचा जा रहा है और प्रशासन को भनक तक नहीं है? बेहद शर्मनाक! @myogiadityanath जी, तुरंत सख़्त ऐक्शन करवाएं!”

You cannot copy content of this page

en_USEnglish
Open chat
विज्ञापन के लिए इस नंबर पर संपर्क करें