May 8, 2021

(पूरी हकीकत)

महादेव के जयकारे से शुरू हुई सावन के पहले सोमवार की पूजा, मंदिरों में उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़

महादेव के जयकारे से शुरू हुई सावन के पहले सोमवार की पूजा, मंदिरों में उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़

शिव की भक्ति में कोरोना का विघ्न, दूर से की गई भगवान की पूजा

पीथमपुर में बाबा कलेश्वरनाथ के मंदिर में सुबह से लगा श्रद्धालुओं का तांता

जांजगीर-चांपा। कोरोना वायरस संकट के बीच आज सावन का पहला सोमवार है। देशभर के मंदिरों में भगवान शिव के दर्शन के लिए भक्तों की भीड़ उमड़ रही है। कोरोना संकट के मद्देनजर मंदिर प्रशासन द्वारा नियमों का पालन किया जा रहा है। हालांकि, कोविड-19 के चलते माहौल वैसा नहीं है, जैसा आम तौर पर देखा जाता है। इसके बाद भी भगवान शिव की अराधना करने के लिए भक्तों की भीड़ कम संख्या में ही सही, लेकिन लगातार मंदिरों में पहुंच रही है। इसी तरह जिले के पीथमपुर में बाबा कलेश्वरनाथ, खरौद में लक्ष्मणेश्वर मंदिर सहित अन्य मंदिरों में सावन के पहले सोमवार को सुबह से भक्तों की भीड़ भगवान शिव के दर्शन के लिए पहुंची। पहले तो मंदिर के पट खोलने को लेकर असमंजस्य की स्थिति निर्मित हो गई थी। इसके बाद समिति के सदस्यों ने मंदिर खोलकर एक-दूसरे से उचित दूरी बनाने को कहा जा रहा है। इसके साथ ही मंदिर समिति के सदस्य मंदिर आने वाले श्रद्धालुओं को पहले सेनेटाइज कर रहे है, जिसके बाद श्रद्धालु अंदर प्रवेश कर पूजा कर रहे हैं। पूजा के लिए पहले जैसे सुविधा नही दी जा रही है, तो वहीं मंदिर परिसर में सदस्यों द्वारा सोशल डिस्टेंसिग का पालन करने का आग्रह किया जा रहा है।

पेंड्री के जगन्नाथ स्वामी मंदिर में पहुंचे श्रद्धालु

जिला मुख्यालय के समीपस्थ ग्राम पेंड्री मेन रोड स्थित जगन्नाथ स्वामी के मंदिर में लोगों की भीड़ पूजा अर्चना करने पहुंची। मंदिर के सदस्यों ने दूरी बनाकर पूजा करने का आग्रह कर क्रम से पूजा करने कहा। श्रद्धलुओं ने कोरोना काल को ध्यान में रखते हुए पूजा अर्चना कर अपनी मन्नते मांगी। हालांकि, कोविड-19 के चलते लोगों को पहले जैसी सुविधा नहीं मिली। जगन्नाथ स्वामी के मंदिर में ज्योतिर्लिंग की स्थापना की गई है, जिसको लेकर आसपास में मंदिर प्रसिद्ध है। ऐसे में सुबह से ही मंदिर में लोगो की भीड़ पूजा करने जुटी थी।

श्रद्धालुओं को पहले किया सेनीटाइज, फिर दिया मंदिर में प्रवेश

भगवान की पूजा पर भी कोरोना वायरस को लेकर सतर्कता दिखी। मंदिर में पूजा करने आए श्रद्धालुओं को पहले समिति के सदस्य सेनेटाइज करते दिखे। इसके बाद ही प्रवेश कर पूजा अर्चना की गई। शिव की अराधना करने के लिए भक्तों की भीड़ कम संख्या में ही सही, लेकिन लगातार मंदिरों में पहुंच रही है।

You cannot copy content of this page

en_USEnglish
Open chat
विज्ञापन के लिए इस नंबर पर संपर्क करें