March 5, 2021

(पूरी हकीकत)

बड़ी खबर : ऐसा क्या हुआ कि चचेरे भाई की हत्या कर शव को दफना दिया

पुलिस ने शव को गड्ढे से निकाल तीनों आरोपियों को किया गिरफ्तार

News [email protected]पामगढ़ :- क्या घर परिवार, जमीन जायजाद की लड़ाई इतनी बड़ी हो जाती है कि अपनो का ही खून बहाने पर उतारू हो जाते हैं। ऐसा ही कुछ हुआ पामगढ़ ब्लॉक कर मेऊ गांव में। यहां एक सख्स ने अपने चचेरे भाई के विश्वास का गला घोंट दिया। उसने उसे सुनसान जगह पर ले जाकर पहले छककर शराब पिलाई। फिर अपने दो दोस्तों के साथ मिलकर उसे मौत के घाट उतार दिया। इसके बाद राज छुपाने के लिए गड्ढा खोदा और उसमें दफना भी दिया।
पामगढ़ पुलिस के अनुसार थाना क्षेत्र के गांव मेऊ निवासी अनिल शास्त्री अपने चचेरे भाई राजकुमार शास्त्री से जमीन विवाद को लेकर रंजिश रखता था। 4 जुलाई की शाम अनिल शास्त्री ने राजकुमार शास्त्री को फोन करके पार्टी करने के लिए बुलाया। अनिल अपने दो अन्य साथियों के साथ राजकुमार से मिला फिर चारों ने छककर शराब पी। जब राजकुमार नशे में चूर हो गया तो मौका देखकर अपने दो दोस्तों के साथ मिलकर लोहे की रॉड से राजकुमार शास्त्री पर ताबड़तोड़ संघातिक वार कर दिया। इससे घटनास्थल पर ही राजकुमार की मौत हो गई। जब राजकुमार घर वापस नहीं पहुंचा तो परिजन उसकी खोजबीन करने निकले। 5 जुलाई तक उसका कहीं कोई पता नहीं चला तो राजकुमार के परिजनों ने अनिल से पूछताछ किया तो पहले तो ना-नुकुर करने लगा। जब परिजनों ने राजकुमार को बुलाने की बात अनिल से कही तो उसने अपना गुनाह कबूल कर लिया। सच्चाई जानकर परिजन सन्न रह गए। परिजनों ने इसकी सूचना तत्काल पामगढ़ पुलिस को देते हुए रिपोर्ट दर्ज कराई। पुलिस ने मुख्य आरोपी अनिल शास्त्री सहित अन्य दो आरोपी को हिरासत में लिया। इसके बाद एसडीएम की अनुमति से शव को बाहर निकलवाया गया। पुलिस तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर पूछताछ कर रही है। गिरफ्तार आरोपियों में एक आरोपी नाबालिग है।


राज छुपाने के लिए हत्या के बाद शव को दफना दिया

आरोपी जुर्म करने के बाद चाहे कितना भी सबूत मिटा ले पुलिस से बचना मुश्किल ही नहीं बल्कि नामुमकिन है। ऐसा ही कुछ पामगढ़ के मर्डर केस में हुआ। अनिल शास्त्री अपने दो दोस्तों के साथ मिलकर अपने चचेरे भाई की हत्या की। फिर पकड़े न जाने के लिए दिया उसके शव को गड्ढा खोदकर दफना दिया। लेकिन उसकी चतुराई कोई काम नहीं आई।

You cannot copy content of this page

en_USEnglish
Open chat
विज्ञापन के लिए इस नंबर पर संपर्क करें