March 7, 2021

(पूरी हकीकत)

डीजीपी ने फलदार पौधा रोपकर दिया हरियाली बचाने का संदेश

न्यूज़ सर्च@रायपुर:- मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की पुलिस जवानों में तनाव कम करने की मंशा के अनुरूप प्रत्येक जिले में स्पंदन कार्यक्रम Spandan program का आयोजन किया जा रहा है। जिसके तहत वरिष्ठ पुलिस अधिकारी Senior Police officer पुलिसकर्मियों से संवाद कर रहे हैं। इसी क्रम में शनिवार को डीजीपी डीएम अवस्थी DGP DM Awasthi स्पंदन कार्यक्रम के तहत संवाद करने एसटीफ बघेरा, छत्तीसगढ़ सशस्त्र बल की भिलाई में स्थित पहली और सातवीं बटालियन पहुंचे। डीजीपी ने इस मौके पर फलदार पौधे रोपकर हरियाली बचाने का संदेश दिया।

डीजीपी ने एसटीएफ बघेरा और छसब की दोनों बटालियनों battalion के जवानों और उनके परिजनों से संवाद किया। संवाद के दौरान परिजनों ने उन्हें अपनी समस्याओं से अवगत कराया जिनका मौक पर ही निराकरण कर दिया गया। परिजनों की जर्जर शासकीय आवास की बात पर अवस्थी ने कहा कि हमारी कोशिश है कि प्रत्येक पुलिसकर्मी police man के पास स्वयं का मकान हो। नये शासकीय भवन निर्माण के साथ ही ऐसी व्यवस्था बनायी जाये जिससे आसान ऋण सुविधा से आपका स्वयं का मकान तैयार हो जाये। स्पंदन कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य पुलिसकर्मियों को तनाव रहित रखना है। महिलाओं ने बटालियन के सामने से शराब दुकान स्थानांतरित करने की मांग पर डीजीपी ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि कलेक्टर से बात कर उचित कार्रवाई करें। परिजनों की मांग पर बटालियन के पास से श्मशान को भी स्थानांतरित करने का आश्वासन दिया।

बघेरा में उन्होंने एसटीएफ जवानों को दिये जा रहे विशेष प्रशिक्षण का निरीक्षण किया। एसटीएफ जवानों द्वारा डीजीपी को फायरिंग रेंज में फायरिंग अभ्यास, रॉक क्लाईंबिंग , सिमुलेटर रेंज में फायरिंग, पॉप अप टॉरगेट, इंटरवेंशन रेंज में हेलीकॉप्टर से उतरने की ट्रेनिंग और हॉस्टेज रेस्क्यू की मॉक ड्रिल कर दिखायी। एसटीएफ जवानों को संबोधित करते हुए अवस्थी ने कहा कि एसटीएफ छत्तीसगढ़ का सबसे सक्षम और पराक्रमी बल है। आपने अपने हौसले से नक्सलियों को बैकफुट पर ला दिया है। इसका सबसे बड़ा कारण आपको दिया जाने वाला विशेष प्रशिक्षण है। जिससे आप श्रेष्ठ बल बने हैं। राज्य से नक्सल समस्या खत्म करने में एसटीएफ की बड़ी भागीदारी है। इस मौके पर डीजीपी ने भिलाई में छत्तीसगढ़ सशस्त्र बल की प्रथम और सातवीं बटालियन का निरीक्षण भी किया। बटालियन स्थित शहीद गैलरी में उन्होंने शहीद जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित की। उन्होंने राज्य की एकमात्र डॉग स्क्वॉड ट्रेनिंग सेंटर का निरीक्षण किया। खास बात है कि सातवीं बटालियन में ही बेल्जियम शेफर्ड की ब्रीड कर 24 डॉग प्रशिक्षित किये गये हैं। जो कि स्निफर और ट्रेकर में प्रशिक्षित हैं। इस दौरान उन्होंने सातवीं बटालियन में सर्वसुविधायुक्त जिम का निरीक्षण किया साथ ही महिला कल्याण सिलाई केंद्र का निरीक्षण किया। जहां पर महिलाएं वर्दी की सिलाई कर आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर हो रही हैं। इस दौरान आईजी दुर्ग विवेकानंद सिन्हा, एच आर मनहर, कर्नल रजनीश शर्मा, कमांडेंट प्रथम बटालियन गोवर्धन ठाकुर, एसपी दुर्ग प्रशांत ठाकुर, कमांडेंट सातवीं बटालियन विजय अग्रवाल, एसपी एसटीएफ बघेरा विजय पांडे उपस्थित रहे।

You cannot copy content of this page

en_USEnglish
Open chat
विज्ञापन के लिए इस नंबर पर संपर्क करें