March 9, 2021

(पूरी हकीकत)

महिला से पीछा छुड़ाने गला घोंटकर की हत्या, शव के साथ मिले बोरे से हुआ खुलासा

अपने अपराध में बेटे को भी किया शामिल, दोनो पहुंचे सलाखों के पीछे

न्यूज़ सर्च@दुर्ग :- पाटन के खोपरा नाले के पास 4 दिन पहले मिले अज्ञात महिला के शव की शिनाख्त करते हुए पुलिस ने एक और अनसुलझी मर्डर मिस्ट्री (murder mystery) को सुलझा लिया है। महिला की पहचान न होने से सभी ये मान रहे थे कि ये मामले अनसुलझा रह जाएगा। लेकिन शव के साथ मिले बोरे ने पुलिस को आरोपियों तक पहुंचा दिया।
इस पूरे मामले का खुलासा करते हुए शहर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रोहित कुमार झा और ग्रामीण एएसपी लखन पटले ने गुरुवार को बताया कि 28 जून के पाटन क्षेत्र के खोरपा नाला में बोरे से बंधी एक महिला की लाश मिली थी। लाश का चेहरा इतना खराब किया गया था की उसकी पहचान कर पाना मुश्किल था। उसके गले में रस्सी के निशान थे। पुलिस ने इसे हत्या (Murder) मानकर मामले जांच शुरू की। घटना स्थल से 10 किलोमीटर आस -पास की एरिया सर्च (search) किया गया। सैकड़ों लोगों से गांव में जाकर गुम महिला के बारे में पूछताछ की, लेकिन कहीं कोई सुराग हाथ नहीं लगा। पुलिस इस मामले को अनसुलझा मान ही बैठी थी कि अचानक पाटन टीआई शिवानंद तिवारी के हांथ कुछ ऐसा लगा जिसने पूरे मामले को सॉल्व solve कर दिया। उनकी नजर उस बोरे पर गई जिसमें महिला का शव भरकर फेंका गया था। दरअसल वह सरकारी बोरा था। उसमें मुसरा लिखा हुआ था। पुलिस ने पता किया गया कि मुसरा नाम के राजनांदगांव डोगरगढ़ में कितने लोग हैं। आखिर पुलिस महिला के परिजनों relative तक सोमनी गांव पहुंच गई परिजनों को शव की शिनाख्ती के लिए बिलाया गया। उन्होंने शव body की पाहचान कंचन बंजारे के रूप में की। इसी बीच मृतिका के बेटी और दामाद ने वाट्सएप WhatsApp में फोटो देख कर उसकी पहचान की। मृतिका की पहचान हो जाने के बाद पुलिस को ये लगने लगा की वह इस अनसुलझी पहेली को हल कर लेगी। पूछताछ में मृतिका की बेटी दामाद ने बताया की वह रिसाली में ओवन साहू के साथ काम करने गई है। पुलिस ने ओवन को तलाश कर उससे पूछताछ की तो गोलमोल जवाब देने लगा, लेकिन जब उससे सख्ती से पूछताछ की गई तो वह टूट गया और अपना जुर्म कबूल कर लिया। उसने बताया की उसने लायलान की रस्सी से गलाघोट कर उसकी हत्या की और दूसरे दिन अपने बेटे उमेश के साथ कार में लाश को खोरपा नाला में फेंक दिया।
ऐसे महिला से बनाया संबंध
एसडीओपी आकाश गिरपुंजे ने बताया कि आरोपी ओवन साहू ने बताया की वह सोमनी का निवासी है। वह बीएसपी में नौकरी करता था। सेवानिवृत्त के बाद उतई में घर खरीद लिया। पहली पत्नी की मौत हो चुकी थी। उसने दूसरी शादी किया। उससे एक बेटा उमेश है। पत्नी और बेटा उतई के मकान में रहते है। सोमनी के मकान को किराए पर दे रखा है। उसमें एक मकान खुद के लिए रखा था। करीब दो साल पहले कंचन से उसकी मुलाकात हुई। कंचन का पति 6 साल पहले ही उसे छोड़ चुका था। अकेली महिला जान उसकी मजबूरी का फायदा उठाकर ओवन उसे अपने जाल में फसा लिया। धीरे धीरे दोनों पति पत्नी की तरह रहने लगे। ओवन हर महिने उस महिला को 4 हजार रुपए देता था। काम के बहाने उसे बाइक पर बैठाकर रिसाली लाता था और एक किराये के घर मे वो महिला के साथ शरीरिक संबंध बनाता था।
शराब पिलाकर की हत्या
आरोपी नेवई में एक मकान किराए पर ले रखा था। करीब दो वर्ष से उसे लेकर आता था वहीं रुकता था। इस बीच कंचन ने अपने हक की बात करते हुए ओवन से 50 हजार की मांग की। ओवन ने उसे 40 हजार रुपए दिए भी, लेकिन वह एक लाख रुपये की मांग करते हुए उस पर दबाव बनाने लगी। तब ओवन ने उसे रास्ते से हटाने की रणनीति बनाई। बोरा, सूजा और लायलॉन की रस्सी खरीदा। 26 जून को नेवई किराए वाले मकान पर कंचन को लेकर आया। रात में दोनों ने चिकन खाया और शराब पी। जब कंचन नशे में सो गई तो नायलॉन की रस्सी से उसका गला घोटकर हत्या कर दी।

You cannot copy content of this page

en_USEnglish
Open chat
विज्ञापन के लिए इस नंबर पर संपर्क करें