March 6, 2021

(पूरी हकीकत)

कौहा की अवैध तस्करी करते दो ट्रक जब्त, वन विभाग ने सील किया आरामील

जिले में नहीं थम रही अवैध लकड़ी की तस्करी

न्यूज़ सर्च@दुर्ग:- यदि पुलिस police चाहे तो मंदिर के सामने से एक चप्पल भी चोरी नहीं हो सकती है। यही बात वन विभाग पर भी लागू होती है। यदि रेंजर और डीएफओ सहित वन विभाग के अधिकारी चाहें तो एक लकड़ी का तिनका भी कोई नहीं तोड़ सकता है। यह बात सायद वन विभाग पर नहीं लागू होती है। पाटन क्षेत्र में प्रतिबंधित अर्जुन के पेड़ों की तस्करी करते दो ट्रक जब्त होने की घटना इसका जीता जागता उदाहरण है। वन विभाग ने गाडाडीह के पास दो ट्रक कौहा लकड़ी से भरे जब्त कर कुम्हारी के दो चालकों को पकड़ा है।
गौरतलब है कि रविवार को गौतम सा मिल गाडाडीह में वन मण्डलाधिकारी दुर्ग के निर्देशन में अब्दुल वहीद खान वन परिक्षेत्र अधिकारी के नेतृत्व में टीम गठित की गई थी। टीम में पाटन संजय भट्ट ,वनरक्षक गोवर्धन नेताम,  वेदप्रकाश यादव, शिशुपाल ठाकुर, सुरेश वर्मा,  पदुमलाल साहू  व जनपद सदस्य गाडाडीह खिलेश यादव, उपसरपंच तोपेन्द्र वर्मा ने गाडाडीह में 2 ट्रक कौहा लकड़ी से भरे पकड़े। दोनों ट्रकों को जप्त कर उन्हे पुलगांव डिपो भेजा गया। यह लकड़ी सा मिल ले जा रही थी, इसलिए वहां भी कार्रवाई की गई। मिल परिसर में रखी लकड़ी की जप्त बनाकर कार्यवाही की गई।
नहीं थम रही कौहा की तस्करी
कौहा के पेड़ों की कटाई लगातार जारी है। बता दें कि पिछले 3 महीनों से वन विभाग भी अर्जुन लकड़ी के अवैध कारोबार के खिलाफ एक्शन में है। लगातार जप्ती और छपामार कार्रवाई कर रही है। इन सब के बाद भी कारोबारियों के हौसले बुलंद हैं और अवैध पेड़ों की कटाई थमने का नाम नहीं ले रही।

You cannot copy content of this page

en_USEnglish
Open chat
विज्ञापन के लिए इस नंबर पर संपर्क करें