April 23, 2021

(पूरी हकीकत)

सुपोषण जागरूकता के लिए 31 मार्च तक पोषण पखवाड़ा का होगा आयोजन

जांजगीर-चांपा 16 मार्च 2021/
भारत सरकार के निर्देशानुसार महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा छत्तीसगढ़ में 16 मार्च से 31 मार्च तक पोषण अभियान अंतर्गत पोषण पखवाड़ा का आयोजन किया जा रहा है। पोषण पखवाड़े का आयोजन विभिन्न विभागों के सक्रिय सहयोग से जन आंदोलन के रूप किया जाएगा।

महिला एवं बाल विकास विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार पोषण पखवाड़ा का मुख्य उद्देश्य स्वास्थ्य पोषण के प्रति हितग्राहियों को जागरूक करना और सेवाओं तक उनकी पहुंच को सुगम बनाना है। पोषण अभियान का मुख्य घटक व्यवहार परिवर्तन है। पोषण पखवाड़ा 2021 का मुख्य उद्देश्य पोषण वाटिका निर्माण को बढ़ावा देना, स्थानीय पंचायती राज संस्थाओं के निर्वाचित सदस्यों की भागीदारी के साथ पोषण संबंधी विषयों पर जागरूकता लाना, अंतरविभागीय समन्वय से पोषण के पांच सूत्रों का व्यापक प्रचार-प्रसार कर लोगों तक पहुंचाना और स्वास्थ्य के लिए योग के महत्व को लोगों तक पहुंचाना है।

पोषण पखवाड़ा के दौरान सुपोषण संबंधी संदेशों को लक्षित परिवारों तक पहुंचाने और उद्देश्यों की पूर्ति के लिए विभिन्न आयोजन किए जाएंगे। इस दौरान आंगनबाड़ी केन्द्रों में औषधि और फलदार पौधों का वितरण और रोपण, पोषण वाटिका का निर्माण, पोषण पंचायत का आयोजन, कुपोषित बच्चों का चिन्हांकन और संदर्भन किया जाएगा। पोषण के पांच सूत्रों के प्रचार-प्रसार के लिए अन्तरविभागीय समन्वय से सुपोषण रथ, पोषण मेला, एनीमिया कैम्प, रैली, कृषक समूह की बैठक, स्कूल आधारित गतिविधियां, युवा और स्व-सहायता समूह की बैठक जैसी गतिविधियों का आयोजन किया जाएगा।

पोषण पखवाड़े के दौरान हितग्राहियों के घर-घर भेंट कर पोषण, स्तनपान, उपरी आहार, पोषण आहार में विविधता संबंधी जागरूकता के प्रयास किये जाएंगे। साथ ही आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और मितानिनों द्वारा अपने कार्य क्षेत्र के सभी घरों में भ्रमण कर एक से 19 वर्ष तक के सभी बच्चों को कृमि मुक्ति की दवा खिलाई जाएगी।

You cannot copy content of this page

en_USEnglish
Open chat
विज्ञापन के लिए इस नंबर पर संपर्क करें