February 27, 2021

(पूरी हकीकत)

ठेकेदार और इंजीनियर ने मिलकर किया 52 लाख की सड़क का बंटाधार

मोदी जी की सड़क की मरम्मत के नाम पर की जा रही लीपापोती

न्यूज़ सर्च@बम्हनीडीह। देश के प्रधानमंत्री (PM narendra damodar modi) नरेंद्र मोदी ने नोटबंदी कर ऑनलाइन पेमेंट को बढ़ावा देकर भ्रष्टाचार पर लगाम तो लगाई, लेकिन खुद अपनी सड़क यानी प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना पर हो रहे भ्रष्टाचार को नहीं रोक पा रहे हैं। ताजा मामला बम्हनीडीह विकास खण्ड के ग्राम पंचायत सरवानी का है। यहां चोरिया से सरवानी होते हुए प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना की सड़क की मरम्मत के लिए 52.13 लाख रुपए की स्वीकृत हुए थे। इसे इंजीनियर और ठेकेदार ने मिलकर हजम कर लिया। अब उनके काले कारनामे की किसी को जानकारी न हो इसके लिए मरम्मत के नाम पर लीपापोती कर रहे हैं।

जांजगीर चाम्पा जिले में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के नाम पर निर्माण और मरम्मत के नाम पर घटिया खेल हो रहा है. शासन ने इस योजना को इस लिये लाई है कि 500 से अधिक आबादी वाले ग्रामीण क्षेत्रों को पक्की सडक का लाभ मिल सके पर इस सडक योजना का लाख ग्रामीण क्षेत्र के लोग नही बल्कि इस योजना के जिम्मेदार अधिकारी, इंजीनियर व ठेकेदार उठा रहे है
सडक निर्माण कार्य के कुछ समय मे ही सडक उखड़ जा रही है जिसके चलते इस सडक पर चलने वाले लोगो का चलना मुश्किल हो जा रहा है

जल्द ही ग्रामीण कर सकते है कलेक्टर से शिकायत

ग्राम पंचायत सरवानी के ग्रामीणो ने

बताया की पहले तो सडक निर्माण कार्य मे जमकर भष्ट्राचार की गई है अब मरम्मत भी अधिकारी लापरवाही बरत रहे है सडक की ऐसी मरम्मत की गई है कि लोग मरम्मत के वजह से दुर्घटना का सिकार हो कर के घायल हो रहे है मरम्मत मे लाई गई मटेरियल पुरी तरह से खराब है जो की पुरी तरह उखड गई है जल्द ही सडक मरम्मत की सिकायत कलेक्टर से कर के सड़क मरम्मत मे लगे अधिकारी के खिलाफ कार्यवाही की मांग की जायेगी
आपको बता दें कि चोरिया से सरवानी तक प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना से सडक का निर्माण कार्य करवाया गया था जिसके मरम्मत के लिये लाखो रूपये की स्वीकृति शासन से मिली थी पर इस तरह का मरम्मत कर ठेकेदार और अधिकारी धडल्ले से अपनी जेब भरने मे लगे है।मरम्मत हुई इस सड़क से हजारों की संख्या में ग्रामीणों का रोज आना-जाना होता है. लेकिन थोड़ी सी भी बारिश में नही हुई और सडक मे भष्ट्राचार होने की पोल खुल गई. सड़क कई जगहों से मरम्मत की गई है पर सभी जगहों से सडक उखडे ही लगी है
सड़क की हालत देखकर लगता है कि सरकारी पैसे की अधिकारी ने ठेकेदार से मिल कर खूब बंदरबांट हुई है. ग्रामीणों की मानें तो काफी समय से सड़क के जर्जर होने से वह परेशान थे.
लेकिन अब जब उसको किसी तरह सुधारा गया तो कुछ दिन में फिर से वही हाल हो गया. अब पहले से भी हालत खराब हो गई है


ग्रामीणों का आरोप बेबुनियाद,काम अच्छा हुआ है

घटिया काम नहीं हुआ है मै अभी तक जा कर नहीं देखा हू लेकिन काम अच्छा है ग्रामीणों की शिकायत बेबुनियाद है

आर एस पैकरा
इंजीनियर प्रधानमंत्री सड़क

You cannot copy content of this page

en_USEnglish
Open chat
विज्ञापन के लिए इस नंबर पर संपर्क करें