April 18, 2021

(पूरी हकीकत)

पोषण पुनर्वास केंद्र में नन्ही रिया की चहल कदमी से आई रौनक

जांजगीर-चांपा 26 फरवरी 2021/
जिला अस्पताल जांजगीर स्थित एनआरसी (पोषण पुनर्वास केन्द) में भर्ती ग्राम सेंदरी नवागढ़ की डेढ़ वर्षीय रिया नटखट चहल कदमी रौनक छाई हुई है। वह यहां सुपोषित खाना खाकर न सिर्फ स्वस्थ हो रही है, बल्कि अपनी नटखट अटखेलियों से आसपास के लोगों को मन भी बहला रही है।

नन्ही रिया की मां वृन्दाबाई पटेल ने बताया कि गंभीर कुपोषित होने के कारण आंगनबाड़ी कार्यकर्ता की सलाह से रिया को लोकर वह आठ दिन पहले ही पूर्व पोषण पुनर्वास केंद्र जांजगीर ( एनआरसी ) में भर्ती हुई है। इन आठ दिनों में समुचित उपचार और पौष्टिक आहार से रिया के वजन में 200 ग्राम की वृद्धि हुई है। वह अन्य भर्ती बच्चों के साथ खूब खेलती है और उसकी मासूम शरारतों से लोग सहज ही आकर्षित हो रहे हैं।

एनआरसी के रिपोर्ट के अनुसार जब रिया को भर्ती कराया गया था तब उसका वजन 7.420 किलोग्राम था। आठ दिन बाद अब उसका वजन बढ़कर 7.660 किलोग्राम है। वह अब पहले की तरह सुस्त नही रहती और खूब खेलती है। इतना ही नहीं खाने पीने में भी उसकी रूचि बढ़ गई है। चिकित्सकों द्वारा रिया सहित यहां भर्ती बच्चों का प्रतिदिन स्वास्थ्य परीक्षण किया जा रहा है। बच्चों के खेलने के लिए खिलौने और अभिभावकों के मनोरंजन के लिए टीव्ही की व्यवस्था है। एनआरसी के सभी दस बेड में गंभीर कुपोषित बच्चो को भर्ती कर समुचित उपचार किया जा रहा है।
मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान के तहत कुपोषित बच्चों का समुचित उपचार कर समान्य श्रेणी में लाने के लिए राज्य सरकार द्वारा समुचित प्रबंध किया गया है। गंभीर कुपोषित बच्चों के उपचार के लिए अस्पताल में पोषण पुनर्वास केन्द्र की व्यवस्था की गई है। यहां बच्चों के स्वास्थ पर सतत निगरानी करते हुए उन्हें पौष्टिक आहार और आवश्यक दवाईयां दी जाती है। इसके अलावा भर्ती के समय ब्लड सेम्पल जांच कर हिमोग्लोबिन तथा अन्य संभावित रोगों की जांच की जाती है।

जांच उपरांत शिशु रोग विशेषज्ञ के मार्ग दर्शन में उपचार एवं न्यूट्रीशियन की सलाह से पौष्टिक आहार दिया जाता है। बच्चों के साथ भर्ती अभिभावक मां को भी पौष्टिक आहार उपलब्ध करवाया जाता है। घर पर उपलब्ध समाग्री से पौष्टिक आहार तैयार करने का भी प्रशिक्षण दिया जाता है। बच्चों की समुचित देखभाल और स्वच्छता के संबंध में भी अभिभावक माताओं को जागरुक किया जाता है।

You cannot copy content of this page

en_USEnglish
Open chat
विज्ञापन के लिए इस नंबर पर संपर्क करें