March 1, 2021

(पूरी हकीकत)

आंबेडकर अस्पताल में डॉक्टर से मारपीट का मामला गरमाया, डॉक्टर विरोध प्रदर्शन पर उतरे

न्यूज़ सर्च@रायपुर। आंबेडकर अस्पताल में जूनियर डॉक्टर से के साथ किए गए मारपीट के विरोध में सभी जूनियर व अन्य डॉक्टर विरोध में उतर गए हैं। सभी एकजुट होकर मंगलवार की सुबह 9 बजे से प्रदर्शन कर रहे हैं। इस दौरान उन्होंने खुद की सुरक्षा व्यवस्था की मांग की है।

मेडिकल एसोसिएशन के अध्यक्ष राकेश गुप्ता ने कहा कि कल दोपहर पंडित जवाहरलाल नेहरू स्मृति चिकित्सा महाविद्यालय के डॉक्टर अंबेडकर अस्पताल में हुई मारपीट की घटना काफी निंदनीय है। चिकित्सा परिसर में इस तरह के दुर्व्यवहार और टकराव के पीछे के कारणों को जानना जरूरी है। 18 घंटे काम करने के बावजूद जूनियर डॉक्टर्स अपना पूरा दिन भर का काम इसलिए नहीं खत्म कर पाते क्योंकि वहां पर संसाधनों और पैरामेडिकल स्टाफ की कमी है। जब तक इन कारणों को ठीक नहीं किया जा सकता तब तक मरीजों का अत्यधिक दबाव झेल रहे डॉक्टर और जूनियर डॉक्टर परिजनों के परिजन और व्यवस्था के दुर्व्यवहार का शिकार होते रहेंगे

घटना के बाद जेल प्रहरी के खिलाफ एफआईआर

जेल प्रहरी शत्रुहन उरांव द्वारा आंबेडकर अस्पताल में सीनियर डॉक्टर के साथ किए गए दुर्व्यवहार और जूनियर डॉक्टर से मारपीट की घटना के बाद आंबेडकर अस्पताल प्रबंधन द्वारा जवान के विरुद्ध एफआइआर दर्ज करवाई गई। इस पर मौदहापारा पुलिस ने आरोपित शत्रुहन को मारपीट सहित हॉस्पिटल में हिंसा तथा संपत्ति हानि के अधिनियम के धारा (3) के तहत अपराध कायम किया है।

यह है पूरा मामला

गौरतलब है कि सोमवार को आंबेडकर अस्पताल के रेडियोलॉजी विभाग में विभागाध्यक्ष रेडियोलॉजी डॉ. प्रो. एसबीएस नेताम के समक्ष पुलिस कांस्टेबल शत्रुहन उरांव द्वारा अभद्र दुर्व्यवहार किया गया। उसने जूनियर डाक्टर डॉ. अमन एवं डॉ. मनोज से मारपीट भी की। रेडियोलाजी विभाग में ड्यूटी कर रहे डॉ. उज्ज्वल एवं डॉ. किशोर के साथ धक्का-मुक्की भी की गई। इस दौरान आंबेडकर अस्पताल में स्थित पुलिस सहायता केंद्र के पुलिस आरक्षकों द्वारा उक्त घटनाक्रम के दौरान पीजी डाक्टरों को कोई त्वरित सुरक्षा नहीं दे सकने की स्थिति को देखते हुए आंबेडकर अस्पताल में पदस्थ दोनों आरक्षकों को तत्काल प्रभाव से हटा दिया गया है। इन आरक्षकों की जगह दो नए आरक्षकों की तैनाती अस्पताल में की गई है। मारपीट की घटना को गंभीरता से लेते हुए मेडिकल कॉलेज अस्पताल प्रबंधन द्वारा उक्त पुलिस जवान के ऊपर एफआइआर दर्ज करवाई थी। इस घटनाक्रम के बाद मेडिकल कॉलेज के अधिष्ठाता डॉ. विष्णु दत्त, आंबेडकर अस्पताल के अधीक्षक डॉ. विनित जैन, विभागाध्यक्ष रेडियोलॉजी विभाग डॉ. एसबीएस नेताम एवं रायपुर पुलिस के एडिशनल एसपी सिटी लखन पटले एवं कोतवाली सीएसपी अंजनेय वाष्णेय के बीच हुई बैठक हुई। सुरक्षा की दृष्टि से अस्पताल में चौबीस घंटे चार अतिरिक्त पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं।

You cannot copy content of this page

en_USEnglish
Open chat
विज्ञापन के लिए इस नंबर पर संपर्क करें