February 24, 2021

(पूरी हकीकत)

डॉक्टर बनकर लोगों की सेवा करने की जगह शुरू कर दी ठगी, एमबीबीएस का छात्र गिरफ्तार

रायपुर। सरकारी नौकरी लगाने के नाम पर लाखों रूपये की ठगी करने वाला एमबीबीएस छात्र चन्द्रशेखर सेन उर्फ चंदन सेन को पुलिस ने गिरफ्तार किया गया है।
पुलिस के मुताबिक प्रार्थी हरीश रात्रे ने थाना सिविल लाईन में रिपोर्ट दर्ज कराया कि वह कमल विहार सद्दानी दरबार के पास थाना सेजबहार रायपुर का रहने वाला है। प्रार्थी ने नोहर सोनवानी निवासी संतोषी नगर रायपुर को भिलाई इस्पात सयंत्र में नौकरी लगाने के नाम पर दिनांक 16 नवंबर 2019 को घड़ी चैक के पास नगदी रकम 3 लाख रूपये तथा नोहर सोनवानी के कहने पर प्रार्थी ने लल्लन कोरी निवासी भिलाई केे बैंक खातों में ट्रांजेक्शन के माध्यम से 2 लाख 50 हजार रूपये दिया।

प्रार्थी के दोस्त संजय लहरे ने नौकरी लगाने के नाम पर दिनांक 28 नवंबर 2019 को राजभवन के पास 3 लाख 20 हजार नोहर सोनवानी को नगद दिया था। 11 दिसंबर 2019 को प्रार्थी के अन्य मित्र बादल दास मानिकपुरी ने नौकरी लगाने के नाम पर नोहर सोनवानी को 2 लाख 40 हजार पचपेड़ी नाका पास नगद दिया था। 25 दिसंबर 2019 को हितेश कुमार रात्रे ने नौकरी लगाने के नाम पर कटोरा तालाब नेताजी चैक के पास नोहर सोनवानी को 5 लाख 50 हजार नगदी दिया था। 31 जनवरी 2020 को सिविल लाईन में 1 लाख रुपये डिटेक्टर पात्रे ने नौकरी लगाने के नाम पर नोहर सोनवानी को दिया था। 29 फरवरी 2020 को लक्ष्मण चंद्राकर ने नौकरी लगाने के नाम पर भिलाई ओवरब्रिज के पास नोहर सोनवानी को 2 लाख 50 हजार नगद दिया था।

नोहर सोनवानी ने प्रार्थी एवं अन्य लोगों को आश्वासन में रखते हुए बोला कि अभी स्वास्थय विभाग में नौकरी लगवा देगा। यह बोलकर काफी हाउस सिविल लाईन रायपुर में उसने अपने दोस्त चंद्रशेखर सेन ऊर्फ चंदन सेन निवासी राजापारा छुरा जिला गरियाबंद से मिलवाया। जो प्रार्थी और उसके दोस्त संजय लहरे को स्वास्थ्य विभाग में सहायक ग्रेड 3 के पोस्ट में नौकरी लगा दूंगा कहा जिसके बोलने पर प्रार्थी अपने खाता से चंदन सेन के पंजाब नेशनल बैंक के खाता में किस्तों में 1 लाख 40 हजार, संजय कुमार लहरे को भी स्वास्थ्य विभाग में नौकरी लगाने के नाम पर चंदन सेन के खाता में नोहर सोनवानी के बोलने पर किस्तों में 1 लाख रूपये कुल 02 लाख 40 हजार नोहर सोनवानी के बोलने पर चंदन सेन के खाता में डलवाये। प्रार्थी और उसका दोस्त संजय लहरे एवं बादल दास मानिकपुरी मिलकर 4 लाख 30 हजार कुल 6 लाख 70 हजार रुपए दिये है।


नोहर सोनवानी एवं चंद्रशेखर सेन उर्फ चंदन सेन दोनों ने प्रार्थी और उसके दोस्त एवं परिचितों संजय लहरे, बादल दास मानिकपुरी, हितेश रात्रे, डिटेक्टर पात्रे एवं लक्ष्मण चंद्राकर के साथ धोखाधडी कर नौकरी लगाने के नाम पर छल कर कुल 26 लाख 80 हजार रुपए प्राप्त कर नौकरी नहीं लगाई और न ही रकम वापस की। जिस पर आरोपी नोहर सोनवानी एवं चंद्रशेखर सेन उर्फ चंदन सेन के विरूद्ध थाना सिविल लाईन में अपराध क्रमांक 86/21 धारा 420, 34 भादवि का अपराध पंजीबद्ध किया गया।

You cannot copy content of this page

en_USEnglish
Open chat
विज्ञापन के लिए इस नंबर पर संपर्क करें