February 28, 2021

(पूरी हकीकत)

टोल प्लाजा वालों की मनमानी आम जन परेशान, अफसर टैक्स वसूलने में मगन

जाने फास्टैग और उससे जुड़े सवालों के जवाब

दुर्ग- केंद्र सरकार के निर्देश के बाद सभी टोल प्लाजा में फास्टैग को अनिवार्य कर दिया गया है। इतना ही नहीं जिन वाहन चालकों ने अब तक अपने वाहनों में फास्टैग नहीं लगवाया है उनसे पैनाल्टी के तौर पर दोगुना टैक्स वसूल किया जा रहा है। जो वहान चालक दोगुना टैक्स नहीं देता उससे टोल प्लाजा के कर्मचारी जबरन टैक्स वसूली करते हैं।

ऐसे में वाहन चालक और टोल प्लाजा कर्मचारियों के बीच कई बार तीखी बहस के साथ ही हुज्जतबाजी तक की नौबत आ जा रही है। इस तरह आम लोगों को टोलप्लाजा में कई बार घंटों वाहन लेकर खड़े रहना पड़ता है। इस तरह की अव्यवस्था की दर्जनों शिकायत मिलने के बाद भी जिम्मेदार अधिकारी व्यवस्था सुधारने की जगह टैक्स वसूलने में मगन है।

टोल प्लाजा में जबरन टैक्स वसूली और वाहन चालकों के झगड़ा करने सहित उनसे हुज्जतबाजी करने की कई शिकायतें मिलने के बाद न्यूज़ सर्च की टीम गुरुवार दोपहर दुर्ग नागपुर हाईवे पर बने टोल प्लाजा पहुंची और हकीकत जानने की कोशिश की। यहां फास्टैग बनाने वाले एजेंट से लेकर वाहन चालकों सहित टोल प्लाजा के जिम्मेदार अधिकारी तक से बात की गई। इसमें कई तरह के पहलू सामने आए। कई वाहन चालकों का आरोप था कि उन्होंने फास्टैग लगवाया है, लेकिन उसके बाद भी उनका कार्ड स्कैन नहीं होता और इसके लिए उन्हें बार-बार एक लेन से दूसरे लेन में लगाया जाता है नहीं तो दोगुना टैक्स देने के लिए दबाव बनाया जाता है।

वहीं फास्टैग बनाने वालों का कहना है कि लोग काफी तेजी से फास्टैग बनवा रहे हैं, लेकिन टोल के स्कैनर सही से काम नहीं करते तो वाहन चालकों को परेशानी होती है। वहीं टोल के कर्मचारियों का कहना था कि उनका स्कैनर ठीक है यह समस्या लो बैलेंस के चलते आती है। इस तरह कई सवालों जवाब पाने के लिए हम दुर्ग शिवनाथ एक्सप्रेसवे प्राईवेट लिमिटेड के प्लाजा मैनेजर पीके तेवतिया से बात की उन्होंने काफी बेबाकी से सवालों का जवाब दिया।

प्लाजा मैनेजर पीके तेवतिया से सीधी बात

प्र. कई गाड़ी वालों की शिकायत है कि फास्टैग स्कैन नहीं करता ऐसा क्यों

उ. कुछ गाड़ी वाले इसे लेकर अवेयर नहीं है। वह गाड़ी साफ करते समय टैग में कपड़ा मार देते हैं तो वह डैमेज हो जाता है। कुछ लोग अपने फास्टैग का बैलेंस चेक नहीं करते। इससे कार्ड स्कैन नहीं करता और उन्हें इस तरह की परेशानी हो रही है।

प्र. यहां जो लोग फास्टैग बना रहे हैं उनकी क्या पहचान है।

उ. इन्हें फास्टैग बनाने के लिए एनएचएआई ने अनुमति दी है और इन सभी जानकारी प्लाजा के पास है।

प्र. टोल प्लाजा में तीन मिनट से अधिक किसी वाहन को नहीं रोका जा सकता, नहीं तो उन्हें बिना टैक्स छोड़ना होगा यह नियम कितना सही है।

उ. हमें इस संबंध अभी तक कोई सर्कुलर नहीं मिला है। यह जो भी न्यूज है वह फेक है। टोल से जो भी गाड़ी गुजरेगी उसे टैक्स पे करना ही पड़ेगा। अगर किसी का फास्टैग रीड नहीं करता और बैलेंस भी है तो उसे हम मैनुअल तरीके से निकालते हैं।

प्र. सीजी 07 यानि दुर्ग जिले की गाड़ियों से टैक्स क्यों लेते हैं।

उ. सीजी 07 नंबर की जितनी भी गाड़ियां है उनसे टैक्स नहीं लिया जाता है। इन गाड़ियों के लिए 120 रुपए का मंथली पास बनाया जाता है। इसके बाद वह बिना टैक्स आना जाना कर सकत है।

प्र. आपके कर्मचारियों द्वारा वाहन चालकों से गलत वर्ताव की शिकायतें आती हैं ऐसा क्यों।

उ. हमारे यहां जितने भी सीसीटीवी कैमरे लगे हैं उनमें वाइस रिकार्डिंग की भी सुविधा है। इससे शिकायत आने पर हम कैमरे की फुटेज के साथ वाइस रिकार्डिंग को सुनकर हकीकत का पता लगाते हैं। अब तक एक शिकायत में हमारे कर्मचारियों की गलती नहीं पाई गई है।

You cannot copy content of this page

en_USEnglish
Open chat
विज्ञापन के लिए इस नंबर पर संपर्क करें