March 1, 2021

(पूरी हकीकत)

पीएम और मंत्री अगर खुद मेहनत की कमाई से पेट्रोल-डीजल भरवाते तो कीमतों में न लगती आग

न्यूज़ सर्च@रायपुर. देशभर में पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों ने आम लोगों को परेशान कर रखा है। आए दिन पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी हो रही है। चाहे केंद्र की सत्ता चला रहे प्रधानमंत्री हों या फिर मुख्यमंत्री यदि उन्हें अपनी मेहनत की कमाई से अपनी गाड़ियों में तेल भरवाना पड़ता तो तेल की कीमतों में आग नहीं लगती। दूसरे राज्यों की तरह छत्तीसगढ़ में भी लोग बढ़ती कीमतों से परेशान हैं। अब तो बढ़ती महंगाई से घर के बजट पर असर पड़ना शुरू हो गया है।

पड़ोसी राज्य मध्य प्रदेश की बात करें तो वहां पेट्रोल की कीमत 100 रुपए प्रति लीटर तक पहुंच गई है। छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में 87.53 रुपए प्रति लीटर की दर से पेट्रोल मिल रहा है। डीजल भी 85.97 रुपए प्रति लीटर के लिहाज से लगातार बढ़त बनाए हुए है।


2013 के आखिरी में जो महंगाई देश को खूब सता रही थी वह एक बार फिर से लौट आई है। पेट्रोल के दाम से आम लोग बेहद परेशान हैं। लॉकडाउन की वजह से लोगों के सामने पहले ही रोजी-रोटी की समस्या आ खड़ी हुई थी। जैसे-तैसे जिंदगी पटरी पर लौट रही थी, उस पर अब महंगाई की मार पड़ने लगी है। पेट्रोल के बढ़ते दामों ने लोगों का बजट बिगाड़ दिया है।बढ़ती कीमतों की वजह से लोगों में साफ नाराजगी साफ देखी जा रही है। प्रदेश की सत्ता पर बैठे लोग इसके लिए केंद्र सरकार को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं। वहीं बीजेपी बढ़ती कीमतों पर राज्य सरकार को वैट कम कर लोगों को राहत देने की बात कर रही है।

You cannot copy content of this page

en_USEnglish
Open chat
विज्ञापन के लिए इस नंबर पर संपर्क करें